Mann Ke Bhole Bhale Badal Class 4 Notes CBSE Hindi Chapter 1 [Free PDF Download]

Prepare for Exams Easily with Class 4 Hindi Chapter 1 Revision Notes

Do you wish to score high marks in your Class 4 Hindi examinations by answering the questions in the right way? Vedantu is offering important revision notes and worksheets that can be the best help in that process. Formulated by some of the top experts at Vedantu, Mann Ke Bhole Bhale Badal revision notes are here to help students get a detailed understanding of the chapter.


In this revision notes for Mann Ke Bhole Bhale Badal, students will be able to learn about different types of clouds and how they appear to the people. The notes have been created by experts at par with the CBSE standards and hence will guarantee a complete hold of the chapter for sure.


NCERT Solutions for Class 4 Hindi | Chapter-wise List

Given below are the chapter-wise NCERT Solutions for Class 4 Hindi. These solutions are provided by the Hindi experts at Vedantu in a detailed manner. Go through these chapter-wise solutions to be thoroughly familiar with the concepts.


Do you need help with your Homework? Are you preparing for Exams?
Study without Internet (Offline)

Download PDF of Mann Ke Bhole Bhale Badal Class 4 Notes CBSE Hindi Chapter 1 [Free PDF Download]

Access Class 4 Hindi Chapter 1 – मन के भोले-भाले बादल Notes

कवि परिचय:

  • प्रस्तुत कविता के कवि  कल्पनाथ सिंह है। 

  • कवि का जन्म 12 जुलाई 1930 को मऊ जिले में हुआ था। 

  • इनकी प्रमुख रचनाओं मे 'माटी की गंध','अगला कदम' जैसी अनेक रचनाएँ शामिल हैं। 


कविता का सारांशः

  •  प्रस्तुत कविता मे कवि ने बादलों के अलग अलग रूपों का वर्णन  किया है l

  • प्रस्तुत पंक्तियों में कवि कल्पना करते हुए कहते हैं कि बादलों के बाल बहुत घने और फैले हुए हैं | 

  • बादलों के गाल गुब्बारे जैसे फूले हुए हैं। 

  • बादलों के शरीर का  रंग काला है l

  •  सभी बादल झूम-झूमकर आसमान में दौड़ लगा रहे हैं | 

  • कुछ बादलों का पेट बहुत बड़ा है जो जोकर जैसा दिखाई पड़ता है और कुछ बादलों की सूँड़ हाथी जैसी दिखाई देती है | 

  • कवि कहते हैं कि कुछ बादलो मे तो ऊँटों के समान कूबड़ दिखाई देता हैं और कुछ बादलो के तो परियों के जैसे पंख लगे दिखाई देते हैं । 

  • कभी कभी ये बादल शेरों के समान आपस में ही  टकराते रहते हैं और कभी कभी तो गर्जना भी करने लगते हैं ।

  • कवि बादलो के बारे मे आगे कहते हैं कि कुछ बादल तूफान की तरह दिखाई देते हैं और कुछ बादल शैतान की तरह शरारती भी दिखाई देते हैं । 

  • कभी कभी ये बादल अपने थैलों से चुपके-चुपके पानी बरसाने लगते हैं और यह कभी भी किसी की बात नहीं सुनते हैं | 

  • कभी कभी ये बादल ढोल की तरह आवाज़ करते हुए छत के ऊपर पर आ जाते हैं और फिर अचानक से ऊपर उड़ जाते हैं । 

  • कभी-कभी ये बादल जिद्दी बनकर इतनी बरसात करते हैं कि नदी-नालों में बाढ़ तक आ जाती है । 

  •  कवि को लगता है कि बादल अच्छे और मन के भोले-भाले होते हैं।


शब्द - अर्थ:

शब्द

अर्थ

वाक्य में प्रयोग

झब्बर

बड़े और घने

बादल बहुत झब्बरदार लग रहे है |

तोंद

बाहर की तरफ निकला हुआ पेट

मेरे चाचा की तोंद बहुत बड़ी हैं |

कूबड़

जीव का उभरा हुआ हिस्सा

ऊँट मे एक कूबड़ पाया जाता हैं |  

मतवाला

मस्ती मे रहने वाला

बादल बहुत मतवाले होते हैं | 

शैतानी

शरारती काम

राम ज्यादा शैतानी मत करो |

जिद्दी

हठी 

गोपाल बहुत जिद्दी है |

भले

अच्छे

तुम एक भले आदमी हो |

भोले भाले

अच्छे मन के

बच्चे बहुत भोले भाले होते हैं ।


तुकबंदी वाले शब्द:

बालों

गालों

फुलाए

उठाए,लगाए

तूफानी

शैतानी

बोली

झोली

बजाते

लाते


प्रश्न - उत्तर:

प्रश्न 1. कविता में किसका वर्णन किया गया है ?

(क) सूरज

(ख) चांद

(ग) बादल

उत्तर: बादल

 

प्रश्न 2. बादलों के बाल कैसे हैं ?

(क) घुंघराले

(ख) मोटे

(ग) घने

उत्तर: घने 


प्रश्न 3. बादलों के शरीर का रंग कौन सा है ?

(क) काला 

(ख) सफेद

(ग) नीला

उत्तर: काला


 प्रश्न 4. कवि  ने बादलों के पंखों की तुलना किससे की  है ?

उत्तर: कवि ने बादलों के पंखों की तुलना परियों के पंखों से की है ।


प्रश्न 5. "गुब्बारे जैसे गाल" यह किसके लिए बोला गया है ?

उत्तर: "गुब्बारे जैसे गाल" यह बादलों के लिए बोला गया है l


प्रश्न 6. बादलों का मन कैसा है ?

उत्तर:  बादलों का मन बहुत भोला-भाला है l


अभ्यास प्रश्न:

प्रश्न 1. नीचे लिखी  कविता की पंक्तियों को पूरा करो | 

(क) कुछ _______ से तोंद फुलाए 

कुछ हाथी-से _______ उठाए 

कुछ _____ से कूबड़ वाले 

कुछ परियों-से ______ लगाए l

उत्तर: कुछ जोकर से तोंद फुलाए 

कुछ हाथी-से सूँड़ उठाए 

कुछ ऊँटों से कूबड़ वाले 

कुछ परियों-से पंख लगाए l


(ख) रह-रहकर ______ पर आ जाते 

फिर चुपके ______ उड़ जाते 

कभी-कभी ______ बन करके 

बाढ़ ________ में लाते l

उत्तर: रह-रहकर छत पर आ जाते 

फिर चुपके ऊपर उड़ जाते 

कभी-कभी जिद्दी बन करके 

बाढ़ नदी-नालों में लाते l


प्रश्न 2.  किस किस महीने में आसमान में ज्यादा बादल छाते हैं ? बताओ l

उत्तर: अधिकतर जुलाई, अगस्त के महीने में आसमान में ज्यादा बादल छा जाते हैं ।


प्रश्न 3. समान तुक वाले शब्दों को मिलाओ l

बालों

उठाए

फुलाए

गालों

तूफानी

झोली

लाते

शैतानी

बोली

बजाते

उत्तर: उचित मिलान-

बालों

गालों

फुलाए

उठाए

तूफानी

शैतानी

लाते

बजाते

बोली

झोली


प्रश्न 4. बादल जिद्दी बनकर क्या करते हैं ?

उत्तर:  बादल जिद्दी बनकर बहुत तेज बरसात करते हैं । जिससे नदी नालों में बाढ़ आ जाती है l


प्रश्न 5. बादल छत पर आने के बाद क्या करते हैं ?

उत्तर: बादल छत पर आने के बाद चुपके से वापस ऊपर उड़ जाते हैं l

Importance of Class 4 Hindi Chapter 1 Mann Ke Bhole Bhale Badal Summary

The summary of the chapter is the perfect description of its moral and message. In the summary of the poem Mann ke Bhole Bhale Badal, the poet explains different types of clouds. He says that the clouds have frothy hair and their cheeks are like balloons flying in the sky. Some clouds appear to be like a clown and some clouds raise their hands like an elephant.


The poet is trying to explain to the readers that clouds can attain many different shapes and sizes and it is up to the imagination of the children to see these clouds in a certain way. Further in the poem, there is a narrative of a change in weather caused by the cloud. The poet says that the clouds that bring storms appear like the devil. The whole idea of the poem is to describe the clouds and their behaviour. This interesting little poem is one of the most important chapters of the Hindi syllabus for class 4. With NCERT solutions for class 4 hindi chapter 1, students can learn a lot about the poem.


Benefits of Studying Vedantu’s Revision Notes for Class 4 Hindi Chapter 1 PDF

The Man Ke Bhole Bhale Badal Class 4 Hindi PDF file can bring the following benefits for the children. 

  • Get the revision notes for this chapter and once you are done with the exercises and questions, you can cross-check your answers. Try reading the detailed notes to build your conceptual foundation. 

  • The revision notes can assist the students to revise the entire chapter in the easiest way possible. Students won’t have to go through the whole chapter as they can refer to the revision notes for preparation. 

  • The subject experts at Vedantu have researched and come up with the notes for Class 3 Hindi Chapter 1 Mann Ke Bhole Bhale Badal as per the prescribed CBSE standards. So, these notes contain important details that might come in handy during exam preparation.


Download NCERT Revision Notes for Class 4 Chapter 1 Hindi

What are you waiting for, young readers? Download the revision notes of Class 4 Hindi Chapter 1 PDF and refer to them according to your needs. Learn the basic idea of the chapter with the help of these notes and solve questions to stay ahead in class.


Important Related Links for NCERT Class 4 Hindi

FAQs on Mann Ke Bhole Bhale Badal Class 4 Notes CBSE Hindi Chapter 1 [Free PDF Download]

1. How can I get revision notes for Class 4 Hindi Chapter 1?

The subject experts at Vedantu have provided important study materials and revision notes for Class 4 Hindi Chapter 1 Mann Ke Bhole Bhale Badal. Go to the official site of Vedantu and follow the instructions to download these files for free.

2. What does the poem Man Ke Bhole Bhale badal tell us?

The poem Man Ke Bhole Bhale badal included in Class 4 Hindi Syllabus talks about the different types of clouds and how they attain different shapes. The poet has beautifully compared the clouds with the balloons and how the same clouds looks like a devil during the storms.

3. How has the poet described the look of clouds during a storm?

In the poem Man Ke Bhole Bhale badal, the poet describes that before the storm, the clouds look like a devil and the whole atmosphere becomes gloomy and sad.

Share this with your friends
SHARE
TWEET
SHARE
SUBSCRIBE