Courses
Courses for Kids
Free study material
Offline Centres
More
Store Icon
Store

Ek Maa Ki Bebasi Poem Class 5 Notes CBSE Hindi Chapter 9 Poem (Free PDF Download)

ffImage
Last updated date: 13th Apr 2024
Total views: 194.7k
Views today: 5.94k

Ek Maa Ki Bebasi Revision Notes Free PDF for Class 5 Hindi Preparation

Class 5 Hindi Chapter 9 Ek Maa Ki Bebasi is a very touching poem about a small child named Ratan who could not speak. In this chapter, the poet explains how the child came to play with the neighbourhood kids every day even though he was different. The poet explains how they felt nervous playing with him. To understand the context of this chapter, refer to the revision notes prepared by the subject experts of Vedantu.


These revision notes will offer the exact summary and a concise explanation of the poem for your better understanding. You will be able to revise this chapter using these notes at your convenience and complete preparing it before an exam.


Class 5 Hindi Revision Notes - Chapter-wise List

Chapter-wise Class 5th revision notes curated by the experts through the pdf links below.

Access Class 5 Hindi Chapter 9 – एक माँ की बेबसी कविता Notes

कवि परिचय:

  • प्रस्तुत कविता के कवि 'कुँवर नारायण' है। 

  • इनका जन्म 19 सितंबर 1927 को उत्तर प्रदेश में हुआ था। 

  • इनकी प्रमुख रचनाओं में "चक्रव्यूह" और "कोई दूसरा नहीं शामिल" हैं l

  • इन्हें ज्ञानपीठ और पद्म भूषण से सम्मानित किया जा चुका हैं ।


कविता का सारांशः

  • प्रस्तुत कविता मे कवि ने रतन नाम के एक लड़के के बारे में बताया है और उसकी मां की बेबसी का चित्रण किया है l

  • कविता के प्रथम भाग मे कवि कहते हैं कि उनके पड़ोस में रतन नाम का लड़का रहता था, जो बोल नहीं पाता था | वह रोज उन सभी के साथ खेलने आया करता था |वह अपंग होते हुए भी एक बच्चा ही था | लेकिन वह उनसे अलग और उनके लिए एक अजूबा था |

  • कविता के दूसरे भाग मे कवि कहते हैं कि सभी बच्चे रतन से घबराते भी थे । उसकी बातों को इशारों में समझना आसान नहीं होता था । उसकी सहमी हुई आँखों में जो बैचेनी रहती थी, उसे कोई भी समझ नहीं पाते थे ।

  • कविता के तीसरे भाग मे कवि कहते हैं कि जब तक रतन खेलता था तो उसकी माँ उसके पास ही बैठी रहती थी और अपनी  नज़र हमेशा रतन पर रखा करती थी । 

  • कवि उन दिनों छोटे बच्चे थे तब वह उसकी माँ की बेबसी को नहीं समझ पाए थे । अब उनको सबकुछ समझ आने लगा है | 

  • कवि को रतन याद है लेकिन सबसे ज्यादा उन्हें माँ की बेबसी याद आती है, जो हमेशा अपने बेटे की सुरक्षा और भविष्य को लेकर परेशान रहती थी।


शब्द - अर्थ:

शब्द

अर्थ

वाक्य में प्रयोग

अदृश्य

गायब

जादूगर अचानक अदृश्य हो गया |

अजूबा

अनोखा

रतन हमारे लिए एक अजूबा था |

भिन्न

अलग

मेरे पास भिन्न-भिन्न प्रकार के सिक्के हैं |  

भयभीत

डरा हुआ

राम रात से बहुत भयभीत हैं | 

छटपटाहट

बैचेनी

मां की आंखों में एक छटपटाहट सी दिख रही है l

निहारना

देखना

सभी बच्चे रतन को निहार रहे हैं l

बेहतर

अच्छा

आज मीनू ने बेहतर काम किया है l

बेबसी

लाचारी

शुभम बहुत बेबस है l


प्रश्न - उत्तर:

प्रश्न 1. कविता में आए लड़के का क्या नाम है ?

(क) रतन

(ख) वतन

(ग) चमन

उत्तर: रतन

 

प्रश्न 2. माँ की आंखों मे क्या झलकता है ?

(क) शरारत

(ख) बेबसी

(ग) उत्सुकता

उत्तर: बेबसी 


प्रश्न 3. रतन दूसरे बच्चों के पास जाकर क्या करता था ?

(क) बात करता

(ख) नाचता 

(ग) खेलता

उत्तर: खेलता


 प्रश्न 4. रतन सब बच्चों से बिल्कुल अलग किस पथा ?

उत्तर:  रतन सब बच्चों की तरह बोल नहीं सकता था l इस तरह वह बाकी बच्चों से थोड़ा अलग था l


प्रश्न 5. कवि को क्या बात याद आती रहती है ?

उत्तर: कवि को रतन की माँ की बेबसी याद आती है, जो हमेशा अपने बेटे की सुरक्षा और भविष्य को लेकर परेशान रहती थी।


अभ्यास प्रश्न:

प्रश्न 1. नीचे लिखी  कविता की पंक्तियों को पूरा करो | 


(क) न जाने किस _______ पड़ोस से

निकल कर आता था वह 

खेलने हमारे साथ रतन, जो _____ नहीं सकता था खेलता था हमारे साथ 

एक टूटे ________ की तरह 

देखने में हम बच्चों की ही तरह था वह भी एक बच्चा |

लेकिन हम बच्चों के लिए _______ था क्योंकि हमसे ______ था l

उत्तर: न जाने किस अदृश्य पड़ोस से

निकल कर आता था वह 

खेलने हमारे साथ रतन, जो बोल नहीं सकता था खेलता था हमारे साथ 

एक टूटे खिलौने की तरह 

देखने में हम बच्चों की ही तरह था वह भी एक बच्चा |

लेकिन हम बच्चों के लिए अजूबा था क्योंकि हमसे भिन्न था l


(ख) जितनी देर वह रहता 

पास बैठी उसकी ____

________ रहती उसका खेलना | 

अब जैसे-जैसे

कुछ बेहतर समझने लगा हूँ

उनकी ______ जो बोल नहीं पाते हैं ।

याद आती

रतन से अधिक

उसकी माँ की ______ में

झलकती उसकी _______ ।

उत्तर: जितनी देर वह रहता 

पास बैठी उसकी माँ

निहारती रहती उसका खेलना | 

अब जैसे-जैसे

कुछ बेहतर समझने लगा हूँ

उनकी भाषा जो बोल नहीं पाते हैं ।

याद आती

रतन से अधिक

उसकी माँ की आँखों में

झलकती उसकी बेबसी


प्रश्न 2.  उचित मिलान करो l

अदृश्य 

अनोखा 

अजूबा 

गायब 

बेहतर 

लाचारी 

बेबसी 

अच्छा

उत्तर:  उचित मिलान

अदृश्य 

गायब 

अजूबा 

अनोखा 

बेहतर 

अच्छा

बेबसी 

लाचारी


प्रश्न 3. रिक्त  स्थान को भरे ??

(क) बे + ____ = बेजान

उतर: बे + जान = बेजान

(ख)____ + चैन = बेचैन

उतर: बे + चैन = बेचैन

(ग ) बे + सहारा = ____

उतर: बे + सहारा = बेसहारा 

(घ )____ + ____ = बेहिसाब

उतर: बे+ हिसाब= बेहिसाब


प्रश्न 4.  मुहावरों का अर्थ बताओ 

(क)आँख दिखाना 

उतर: डराना

उदाहरण:  कक्षा मॉनिटर ने आँख दिखाकर सभी बच्चों को चुप करा दिया ।

(ख) नजरे चुराना 

उतर: अपनी गलती पर शर्मिंदा होना

उदाहरण:  कृष्णा से जब गिलास टूटने के बारे में पूछा गया, तो वह नज़रे चुरा लगा ।

(ग)आँख का तारा 

उतर: - बहुत प्यारा 

उदाहरण: - बच्चे माँ की आँखों के तारे होते हैं।


Importance of CBSE Class 5 Hindi Chapter 9 Ek Maa Ki Bebasi

This is a heart-touching poem written by Kunwar Narayan about a small child named Ratan who could not speak. He used to come to play with the poet and his friends in the neighbourhood. He explains that a broken toy is still a toy. Similarly, a child who cannot speak may be different from the rest, but is still a child.


The poet and his friends were nervous playing around him. Ratan was different from others as he felt anxious playing with normal kids. Ratan’s mother accompanied him when used to play with his friends. The poet’s eyes were always on him.


The poet explains in Class 5 Hindi Chapter 9 that he has grown up and can find verbally impaired people using gestures to communicate. Such people understand things better when they grow up. However, the poet could not forget the helplessness in Ratan’s mother’s eyes. The chapter’s importance lies in the explanation of how a mother is helpless for his differently-abled child.


Benefits of Ek Maa Ki Bebasi Revision Notes

  • The revision notes have been prepared following the Class 5 CBSE standards. It has explained all the lines of this poem in a simpler version so that you can understand them better.

  • The easier version of the chapter will help you prepare its summary and revise faster before an exam.

  • When you are done preparing, you can proceed to check your understanding of the prime concepts of this chapter by solving the sample questions. Find out the sections of Ek Maa Ki Bebasi you need to study again and make your preparation better.

  • Follow the format of the Class 5 Hindi Chapter 9 question answer prepared by the experts to learn how to accurately answer such questions.


Download Class 5 Ek Maa Ki Bebasi Revision Notes Free PDF

Get the free PDF version of this chapter’s revision notes and complete your study material. Find out why the answers to fundamental questions such as why Ratan’s mother was helpless. Figure out the answers faster and score good marks in your Hindi exams.

FAQs on Ek Maa Ki Bebasi Poem Class 5 Notes CBSE Hindi Chapter 9 Poem (Free PDF Download)

1. How do people with speech impairment communicate?

People who cannot speak communicate with their hand gestures. They also try to utter words as much as possible and even read lips to communicate.

2. Why did Ratan face difficulty in playing with other kids?

Ratan was unable to speak. He could not communicate with other kids. This is why he faced difficulty playing with other kids.

3. Why was Ratan always accompanied by his mother?

Ratan was not normal like the other kids. His mother always accompanied him when he played with others. His mother helped him to communicate and ensured that he was safe outside.