Courses
Courses for Kids
Free study material
Offline Centres
More
Store Icon
Store

Chhoti Si Hamari Nadi Class 5 Notes CBSE Hindi Chapter 17 (Free PDF Download)

ffImage
Last updated date: 23rd May 2024
Total views: 214.8k
Views today: 2.14k

Download Chhoti Si Hamari Nadi Revision Notes For Complete Practice

The Class 4 chapter 17 Hindi poem written by Ravindranath Thakur titled Chhoti Si Hamari Nadi is about a small river in his village. This small river keeps the area cool during the summer and allows people to cross and go to the other side. There is no mud, and it is clean.

The poem further depicts the view across the river, and there are mango trees. To understand the complete context of the poem, it is best to download Chhoti Si Hamari Nadi revision notes.

This revision notes by Vedantu are compiled by the subject authors giving a clean context to the poem. To make proper understanding, this chapter's explanation has been condensed.


Class 5 Hindi Revision Notes - Chapter-wise List

Chapter-wise Class 5th revision notes curated by the experts through the pdf links below.

Access Class 5 Hindi Chapter 17 – छोटी सी हमारी नदी Notes

कवि परिचय:

  • प्रस्तुत कविता के कवि ' रविंद्र नाथ ठाकुर' है। 

  • कवि का जन्म 7 मई 1861 को हुआ था। 

  • वे एक लेखक, कवि, नाटककार, संगीतकार और चित्रकार भी हैं l

  • उन्हें साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है ।


कविता का सारांशः

  •  प्रस्तुत कविता मे कवि ने एक नदी और उसकी खूबसूरती का वर्णन किया है।

  • कविता के इस भाग मे कवि कहते हैं कि नदी छोटी है और इसकी धार टेढ़ी-मेढ़ी है। गर्मी के मौसम में यहाँ घुटने तक पानी भर जाता है जिसे आदमी, जानवर या बैलगाड़ी आसानी से पार कर लेते है । नदी के किनारे बहुत ऊँचे हैं। इसके तली में कीचड़ भी नहीं है । रात्रि के वक़्त सियार हुआँ-हुआँ करता रहता है।

  • कविता के इस भाग मे कवि कहते हैं कि नदी के दूसरे किनारे पर आम और ताड़ के पेड़ लगे हुए हैं। जिसकी छाया में ब्राह्मण टोला रहता है | छोटे बच्चे नहाते हुए मछलियाँ पकड़ते हैं । घर की औरतें नदी से रेत ले जाकर लोटा - थाली माँजती हैं और कपड़े धोती हैं । सभी अपने घर को चल देती हैं। 

  • कविता के इस भाग मे कवि कहते हैं कि जब आषाढ़ का महीना आता है और वर्षा होती है । तब नदी पानी से भर जाती है और इसकी तेज धार से कलकल की आवाज़ आने लगती है । नदी के दोनों तरफ़ के वनों में खूब कोलाहल मच जाता है। लोगों में ख़ुशियों की लहर दौड़ जाती है ।


शब्द - अर्थ:

शब्द

अर्थ

वाक्य में प्रयोग

अमराई

आम का बगीचा

यह अमराई बहुत बड़ा हैं |

ढोर डंगर

जानवर

ढोर डंगर नदी को पार करते है |

दूजे

दूसरा

वह दूजा काम कर रहा है l  

साँझ

शाम

साँझ होने वाली है | 

सकारे

सवेरे

मैं आज सकारे ही उठ गया था ।

दन्नाती

तेजी से

बैल दन्नाती हुई राम की ओर बढ़ गई ।

कोलाऊ

शोर

वाहन बहुत कोलाहल करते है ।

गैंदले

गंदा

यह पानी गैंदला है ।

जग

संसार

यह जग बहुत सुंदर है ।


समान तुक वाले शब्द:

धार

पार

चालू

ढालू

नाम

घाम

डार

सियार

वन

सघन

कच्चे

बच्चे

नहाना

छाना

रेती

देती

उतराती

दन्नाती

कोलाहल

चंचल

रोला

टोला


प्रश्न - उत्तर:

प्रश्न 1. नदी की धार कैसी  है ?

(क) सीधी

(ख) टेढ़ी-मेढ़ी

(ग) ऊंची

उत्तर: टेढ़ी-मेढ़ी

 

प्रश्न 2. पेड़ की छाया में कौन रहता है ?

(क) ब्राह्मण टोला

(ख) चिड़िया

(ग) गाय

उत्तर: ब्राह्मण टोला


प्रश्न 3. नदी की तेज धार से कैसी आवाज आती है ?

(क) झर झर

(ख) कल कल

(ग) हूर हूर

उत्तर: कल कल


प्रश्न 4. नदी के दूसरे किनारे पर कौन-कौन से पेड़ लगे हुए हैं ?

उत्तर: नदी के दूसरे किनारे पर आम और ताड़ के पेड़ लगे हुए हैं।


प्रश्न 5. नदी के दूसरे किनारे पर क्या-क्या हो रहा है ? लिखो I

उत्तर: नदी के दूसरे किनारे पर छोटे बच्चे नहाते हुए मछलियाँ पकड़ते हैं । घर की औरतें नदी से रेत ले जाकर लोटा - थाली माँजती हैं और कपड़े धोती हैं । सभी अपने घर को चल देती हैं।


अभ्यास प्रश्न:

प्रश्न 1. नीचे लिखी कविता को पूरा करो | 

(क) छोटी-सी हमारी नदी टेढ़ी-मेढ़ी ______, 

_______ में घुटने भर भिगो कर जाते पार | 

पार जाते ढोर-डंगर, बैलगाड़ी चालू, 

ऊँचे हैं किनारे इसके, _____ इसका ढालू | 

पेटे में झकाझक बालू ______ का न नाम,

 ________ एक पार उजले जैसे घाम |

उत्तर: छोटी-सी हमारी नदी टेढ़ी-मेढ़ी धार

गर्मियों में घुटने भर भिगो कर जाते पार | 

पार जाते ढोर-डंगर, बैलगाड़ी चालू, 

ऊँचे हैं किनारे इसके, पाट इसका ढालू | 

पेटे में झकाझक बालू कीचड़ का न नाम,

 काँस फूले एक पार उजले जैसे घाम |


(ख) जैसे ही _____ बरसता, भर नदिया उतराती, 

______ सी छूटी चलती तेज़ धार दन्नाती | 

वेग और _______ के मारे उठता है _______, 

गँदले जल में घिरनी-भंवरी भंवराती है चंचल | 

दोनों पारों के वन-वन में मच जाता है रोला,

 वर्षा के ______ में सारा जग उठता है टोला |

उत्तर: जैसे ही आषाढ़ बरसता, भर नदिया उतराती, 

मतवाली-सी छूटी चलती तेज़ धार दन्नाती | 

वेग और कलकल के मारे उठता है कोलाहल

गँदले जल में घिरनी-भंवरी भंवराती है चंचल | 

दोनों पारों के वन-वन में मच जाता है रोला,

 वर्षा के उत्सव में सारा जग उठता है टोला |


प्रश्न 2. नीचे लिखे गए शब्दों के समान तुक वाले शब्द लिखो l

(क) नाम

उत्तर: घाम

(ख) रेती

उत्तर: देती


प्रश्न 3. नदी की टेढ़ी-मेढ़ी धार किसकी तरह लगती हैं?

उत्तर: नदी की टेढ़ी-मेढ़ी धार साँप की तरह लगती है l


प्रश्न 4. नदी के तट की क्या विशेषता थी ?

उत्तर: नदी के तट ऊँचे और पाट ढालू थे l


प्रश्न 5. कविता में आए समान तुकवाले कुछ शब्दों को लिखो l

उत्तर: समान तुकवाले शब्द-

धार

पार

चालू

ढालू

नाम

घाम

डार

सियार

वन

सघन

कच्चे

बच्चे

नहाना

छाना


प्रश्न 6. अक्सर नदी के किनारे क्या-क्या होता है ?

उत्तर: बच्चे नदी में खूब उछल-कूद करते हैं और मछलियाँ भी पकड़ते हैं । नदी किनारे बहुत-सी नावें भी होती हैं l लोग एक किनारे से दूसरे किनारे तक नाव के सहारे जाते हैं l महिलाएं घड़ा लेकर पानी भरने को आती है l


प्रश्न 7. कविता में नदी की क्या-क्या विशेषताएं बताई गई हैं ? लिखो l

उत्तर:  नदी छोटी है और इसकी धार टेढ़ी-मेढ़ी है। गर्मी के मौसम में यहाँ घुटने तक पानी भर जाता है जिसे आदमी, जानवर या बैलगाड़ी आसानी से पार कर लेते है । नदी के किनारे बहुत ऊँचे हैं। इसके तली में कीचड़ भी नहीं है ।


प्रश्न 8. कविता के अनुसार सभी लोग खुश क्यों हो जाते हैं ?

उत्तर: आषाढ़ का महीना आने पर जब वर्षा होती है । तब नदी पानी से भर जाती है और इसकी तेज धार से कलकल की आवाज़ आने लगती है ।  जिससे नदी के दोनों तरफ़ के वनों में खूब कोलाहल मच जाता है। इस कारण लोगों में ख़ुशियों की लहर दौड़ जाती है ।

Summary of Class 4 Chhoti Si Hamari Nadi in Hindi

This interesting Hindi poem is about the writer who speaks about the small river in his village offering a scenic view. This small river is quite clean and offers a good way to cross and go to the other side. There is no mud, and it keeps the climate cool during the summer season. On the other side of the river, there are trees, and under one of the trees, priests are taking a rest, and their kids are playing in the river.

In this Nadi Par Kavita, the writer says how the river flows at full speed during the monsoon season and offers a scenic view. People during this period get very happy and celebrate this monsoon will full pomp. In this way, through Nadi Ka Roop, the writer mentions how beautiful the river flows, giving a reason to stay here forever.

Benefits of Vedantu's Chhoti Si Hamari Nadi Worksheet and Revision Notes

  • Students with the revised notes will get a simplified version of the poem. You will find it easy to understand the meaning of all the lines. These notes will make you understand the poetry Class 4 a lot easier.

  • After reading Chhoti Si Hamari Nadi in Hindi, go over the notes to finish your preparation. To do well in tests, remember everything you studied before an exam and quickly describe the poem.

  • To assess your level of preparedness, complete the worksheets provided in these notes. Find how the poet explains the river and its changing flow during the monsoon season.

  • As part of the chapter exercise, you'll learn to make a list of summer activities.

Download the PDF Format of the Class 4 Hindi Poem of Chhoti Si Hamari Nadi

Get the revision notes in PDF format for free, and improve your comprehension abilities so that you may do well on your Hindi tests. Find out how subject experts framed each answer to the worksheet's questions, making it easy to understand.

FAQs on Chhoti Si Hamari Nadi Class 5 Notes CBSE Hindi Chapter 17 (Free PDF Download)

1. Do the flow of the river during monsoon increase?

It is quite obvious that the flowing current of the river during the monsoon season increases. It is advised to avoid cross or going near the river during such a situation. However, it depends on fast or deep the river is.

2. How picturesque is the location near the river?

The location near the river is quite picturesque, especially during the monsoon season. One can enjoy cool weather and greenery around the river. If you have ever visited such a riverbed, then you will find certainly know how beautiful the location turns into.

3. Can people do fishing in the river?

Yes, it is quite fun to do fishing in the river where they will find some fish. The process is also fun when you do it with your friends.