NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter - 1 Ham Panchhee Unmukt Gagan Ke

Class 7 Hindi Vasant NCERT Solutions for Chapter - 1 Ham Panchhee Unmukt Gagan Ke

Most students get afraid of Hindi literature as their subject. The subject is tough since it is filled with several inner meanings. One such chapter is Class 7 Vasant Chapter 1. This chapter is filled with inner meanings in every alternate phrase, making it tough for the students to understand. However, NCERT Solutions Class 7 Hindi Vasant Chapter 1 is available on the internet. This solution set explains every detail encompassed by the chapter. 

Additionally, it also provides model questions and answers for the students to prepare for any examination. The solution set is available in the PDF format so that the student can download it easily. They will be able to download the chapter on their laptop and android device and study them at their convenience.

You can also download NCERT Solutions for Class 7 Maths and NCERT Solution for Class 7 Science to help you to revise complete syllabus and score more marks in your examinations.

Do you need help with your Homework? Are you preparing for Exams?
Study without Internet (Offline)
NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter - 1 part-1

Access NCERT Solutions for Class 7 Hindi वसंत - पाठ 1 हम पंछी उन्मुक्त गगन के

1. हर तरह की सुख सुविधाएँ पाकर भी पक्षी पिंजरे में बंद क्यों नहीं रहना चाहते ?

उत्तर: पक्षी आकाश में आजाद उड़ना चाहते है। पिंजरे मे वे अपने पंख नही फैला सकते। अगर वे अपने पंख फैलायेंगे तो पिंजरे की सलाखों से लड़कर उनके पंख टूट जाएंगे। हर तरह की सुख सुविधाएँ पाकर भी पक्षी पिंजरे में प्रसन्न नहीं रह सकते क्योंकि आजादी की उड़ान उनमें नई उमंग और प्रसन्नता भर देती है। आज़ाद रहकर वे नदी का शीतल पानी पीना चाहते हैं और आसमान की ऊंचाइयों को छुना चाहते हैं।


2. पक्षी उन्मुक्त रहकर अपनी कौन-कौन सी इच्छाएँ पूरी करना चाहते हैं?

उत्तर: पक्षी उन्मुक्त रहकर खुले आकाश में उड़ना चाहते है। वह नदी का बहता हुआ जल पीना चाहते है, प्रकृति के सुन्दर रूप का आनन्द लेना चाहते है और नीम की कड़वी निबोरिया खाना चाहते है। वे पेड़ की ऊँची टहनियों पर भी झूला झूलना चाहते है।


3. भाव स्पष्ट कीजिए-

या तो क्षितिज मिलन बन जाता या तनती साँसों की डोरी।

उत्तर: इस पंकित में कवि पक्षियों के माध्यम से कहना चाहता है कि वो आजाद पक्षी होते तो क्षितिज जहाँ धरती और आकाश मिलते है, से मिल जाना चाहते है। पक्षी आकाश में उड़ना चाहते हैं चाहे उनकी सांसों की डोरी टूट जाए भाव इसमें चाहे उनके प्राण चले जाएं।


4. कई लोग पक्षी पालते हैं

(क) पक्षियों को पालना उचित है अथवा नहीं? अपने विचार लिखिए।

उत्तर: क) हमारे ख्याल से पक्षियों को पिंजरे में बंद करना उचित नहीं। क्योंकि पक्षी उन्मुक्त होकर खुले आकाश में पंख फैलाकर उड़ना चाहते हैं और नदियों का शीतल जल पीना चाहते हैं, पेड़ की सबसे ऊँची टाहनी पर झूलना चाहते है। पिंजरे में पक्षियों को सारी सुख सुविधा हो लेकिन उड़न उनमें उमंग और प्रसन्नता भर देती है।


(ख) क्या आपने या आपकी जानकारी में किसी ने कभी कोई पक्षी पाला है? उसकी देखरेख किस प्रकार की जाती होगी, लिखिए।

उत्तर: ख)अगले पक्षी ने अपना सिर उठाया। प्रदर्शनी से खरीदा। हर दिन घर की सफाई करते हुए पूरे परिवार ने उन्हें बड़े प्यार से प्यार किया। एक कटोरी में तरह-तरह के बर्तन थे और दूसरे में पानी पीने के लिए। मेरे पड़ोसी ने बैरो से घंटों बात की और उसे पार्क में ले आए। तोते के पास उसके परिवार के सभी सदस्यों के नाम थे लेकिन तोते ने उसके दिल का भारी खाना खा लिया। जैसे ही हम अपने बगल के घर के पास पहुंचे उसने हमें आत्मविश्वास से देखा।


5. पक्षियों को पिंजरे में बंद करने से केवल उनकी आज़ादी का हनन ही नहीं होता, अपितु पर्यावरण भी प्रभावित होता है। इस विषय पर दस पंक्तियों में अपने विचार लिखिए।

उत्तर: अगर हम पक्षियों को पिंजरे में बंद रखेगें तो इससे हमारे पर्यावरण पर भी प्रभाव पड़ता है। पक्षी छोटे छोटे कीड़ों को खाते हैं जिससे उनकी संख्या नियमित होती है।  ये कीड़े हमारी फसल को नुकसान पहुँच सकते हैं। पक्षि पर्यावरण में भी अनेक चीजों में सहायक का काम करते हैं। जैसे पक्षि फलों को खाकर बीजों को गिरा देते है जिससे नये पौधे पनपते है। कुछ पक्षी पर्यावरण को साफ रखने का काम करते है। जैसे हमारे द्वारा फैकी रोटी का टुकड़ा खाकर उसे स्वच्छ बनाये रखने का प्रयास करते है।


6. क्या आपको लगता है कि मानव की वर्तमान जीवन-शैली और शहरीकरण से जुड़ी योजनाएँ पक्षियों के लिए घातक हैं? पक्षियों से रहित वातावरण में अनेक समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं। इन समस्याओं से बचने के लिए हमें क्या करना चाहिए? उक्त विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन कीजिए।

उत्तर: मानव की वर्तमान जीवन शैली ओर शहरीकरण के लिए मानव अपने रहने के लिए इमारतें बनाने के लिए पेड़ काट रहा है जिससे जंगल कम होते जा रहे है जो कि पक्षियों के लिए घातक है क्योंकि पक्षियों के घर इन पेड़ों पर ही होते है। पेड़ों के कम होने से हमारा पर्यावरण और पानी भी प्रदूषित हो रहा है, पक्षियों को खाने के लिए फल भी कम मिल रहे है जो पक्षियों के लिए घातक है।

इन समस्या से बचने के लिए हमें अपना पर्यावरण शुद्ध रखना होगा और ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने होगें जिससे पक्षियों को कोई नुकसान न हो।


7. यदि आपके घर के किसी स्थान पर किसी पक्षी ने अपना आवास बनाया है और किसी कारणवश आपको अपना घर बदलना पड़ रहा है तो आप उस पक्षी के लिए किस तरह के प्रबंध करना आवश्यक समझेंगे? लिखिए।

उत्तर:  यदि मुझे किसी कारणवश अपना घर बदलना पड़ रहा है तो मैं उस पक्षी के लिए कनक, चावल, मक्की, ज्वार, बाजरा आदि अनाज और साथ में पानी की कटोरी का इंतजाम करुँगी। इसके साथ - साथ सुरक्षा का प्रबंध करना आवश्यक समझूंगी ताकि उसे मेरी गैरमौजूदगी में उसे कोई परेशानी ना महसूस हो।


8. स्वर्ण-श्रृंखला और लाल किरण-सी में रेखांकित शब्द गुणवाचक विशेषण हैं। कविता से हूँढ़कर इस प्रकार के तीन और उदाहरण लिखिए।

उत्तर:  

1. देव - दानव,

2. देश - विदेश, 

3.उत्तर - प्रश्न, 

4. अपना - पराया, 

5. एक - अनेक, 

6. गरम - ठंडा, 

7.रात - दिन,

8. अमीर - गरीब, 

9.सही -  गलत, 

10.सुबह - शाम


9. ‘भूखे-प्यासे’ में द्वंद्व समास है। इन दोनों शब्दों के बीच लगे चिह्न को सामासिक चिह्न (-) कहते हैं। इस चिह्न से ‘और’ का संकेत मिलता है, जैसे-भूखे-प्यासे = भूखे और प्यासे।

इस प्रकार के दस अन्य उदाहरण खोजकर लिखिए।

उत्तर: 

1. दाल-रोटी – दाल और रोटी

2. अन्न-जल – अन्न और जल

3. सुबह-शाम – सुबह और शाम

4. पाप-पुण्य – पाप और पुण्य

5. राम-सीता – राम और सीता

6. सुख-दुख – सुख और दुख

7. तन-मन – तन और मन

8. दिन-रात – दिन और रात

9. दूध-दही – दूध और दही

10. कच्चा-पक्का – कच्चा और पक्का  


NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 1 Ham Panchhee Unmukt Gagan Ke

Reasons for You to Download the Solutions for Vasant Chapter 1 Class 7

Vasant Class 7 Chapter 1 is one of the toughest chapters in the entire syllabus. It seems that every alternate phrase has an inner meaning. All these meanings are explained in the NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 1. The language followed in this solution set is easy and fluent so that the students can easily grasp the subject matter. The students can quickly go through the solution chapter’s contents and have a clear, vivid idea about the topic. The following features of hum panchhi unmukt Gagan ke NCERT solution Class 7 will make you understand why this solution set is helpful for students.


CBSE-Oriented Answering Rules

Previously it was difficult for students to score high in Hindi literature since their marks were allotted to their presentation style. If the examiner gets impressed by the answers, then only the students used to get high marks. Otherwise, the examiners might deduct marks for answers which, according to them, was not properly presented. CBSE has cleared the air regarding this aspect by setting up its list of rules. 

If the answers match to their scheme, then the examiner cannot deduct a single mark. Hindi Vasant Class 7 Chapter 1 solutions have incorporated these rules in their model answers that they present in between and at the end of the chapter. The student can learn how to write answers for full marks from these  NCERT Class 7 Hindi Vasant Chapter 1.


Exam-Oriented Approach

NCERT Vasant Class 7 Chapter 1 solutions are prepared by keeping an eye on the examinations. Students study this chapter to score high in the examination. The solution set has focused on those important parts of the chapter referred to most of the time in many examinations. Those regions are highlighted, although an overall view is also being provided to the students. Moreover, the model answers will help the students know the best way to write the examination’s answers. Such answers will not let the examiners deduct a single mark, as far as your answer is right.


Helpful Revision Before the Examinations

It is near to impossible for students to complete the entire syllabus on the night before the examination. A revision note featuring only the chapter’s salient points will help the students in this aspect. Hindi Vasant Class 7 Chapter 1 has been made concise into these points by the solution set provided here. As a result, the students can complete revising the chapters easily. Also, they will get to go through the model answers, which will help them know how to write answers. Such knowledge will help the students score high in examination.


Why is Vedantu Your Best Choice for Revising Hindi Literature Notes?

Vedantu is one of the pioneers of online training for students. They have devoted eminent teachers across the country to explain tough topics like Hindi literature. For example, Vasant ch 1 Class 7 has been explained in lucid language to understand the concepts easily. Moreover, they will also be trained on how to write answers in the examination. If a student takes the Vedantu course seriously, they will score high in examinations.

FAQs (Frequently Asked Questions)

1. How would you prepare from NCERT solutions for Hindi literature?

You must focus on the overall idea as well as the intricate details of the Hindi literature chapter.  It would help if you also study the model answers before the examination.

2. How will you benefit from solution notes?

For obtaining maximum benefit from the NCERT solution sets, read the entire solution thoroughly. The model answers ensure you a high score in any examination, and you should refer to them before any examination.

3. How to develop proper skills for writing answers from solution sets?

If you wish to know how to write high-scoring answers, you must read and practice from the model questions and answers shown in Vedantu’s solution sets.

Share this with your friends
SHARE
TWEET
SHARE
SUBSCRIBE