NCERT Solutions for Class 12 Hindi Antral Chapter 3 - Viskohar Ki Maati

Class 12 Hindi NCERT Solutions Antral Chapter 3 - Viskohar Ki Maati

For an excellent preparation of class 12 Hindi board examinations 2020-2021 based on revised syllabus prescribed by CBSE, aspirants must have a complete solution at one place. They continuously choose to seek advice from Vedantu, which is the most dependable downloaded website in the country.

Vedantu is the one-stop-shop for a complete solution like chapter-wise class 12 Hindi NCERT solutions, sample papers, previous year's class 12 Hindi NCERT question papers with 100% accurate answers. 

Beside this, Vedantu is best known for quick revision of the concepts, NCERT Solutions are designed step-by-step to give absolute concept clarity. 

Do you need help with your Homework? Are you preparing for Exams?
Study without Internet (Offline)
NCERT Solutions for Class 12 Hindi Antral Chapter 3 part-1

Access NCERT Solutions For Class 12 Hindi Chapter 3 - बिस्कोहर की माटी

प्रश्न – अभ्यास 

12:1:3 प्रश्न – अभ्यास:1

1. कोईयां किसे कहते हैं? इसकी विशेषताएं बताइए।

उत्तर: कोइयां पानी में उगने वाला एक फूल हैं जिसे ' कुमुद ' और ' कोकाबेली ' के नाम से भी जाना जाता है।

इसकी विशेषताएं निम्नलिखित हैं – 

( क) पानी से भरे गड्डो में यह फूल आसानी से उगता हैं।

(ख) कोइयां भारत के अधिकांश भागों में लाया जाता है।

(ग) इस फूल में बहुत आकर्षक गंध आती हैं।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 2

2.' बच्चे का मां का दूध पीना सिर्फ दूध पीना नहीं, मां के सारे संबंधो का जीवन – चरित होता है ' टिप्पणी कीजिए।

उत्तर: मां और बच्चे के रिश्ते से पवित्र और शुद्ध रिश्ता दुनिया में ओर कोई रिश्ता नहीं होता है।मां भगवान से भी महान होती है। मां का दूध अमृत से भी बड़कर होता है।बच्चे का अपनी मां के साथ भ्ट घरा रिश्ता होता है।यह रिश्ता तभी जुड़ जाता है जब बच्चा मां की कोख में होता है।जब बच्चा इस दुनिया में आता हैं, तो छह माह तक अपनी मां के दूध पर निर्भर होता है।इसके बाद वह तीन से चार साल तक वह मां का दूध पीता है।जब मां बच्चे को दुधपान कराती हैं।तब वह बच्चे को अपने आंचल से छुपा लेती हैं।जब बच्चा रोता हैं, हसंता हैं, खाता है,पीता है,और जब मां के साथ खेलता है तो उससे मां और बच्चे के बीच नए रिश्ते को जीवन देता है। बच्चा मां की गोद में दूध पीते हुए अपनी मां का स्पर्श और गरमजोशी को महसूस करता है।किसी भी बच्चे मां के लिए,उसकी मां उसकी पोषण मित्र और एक महिला होती हैं। मां का दूध पीने वाला बच्चा मानव जीवन का सार्थक बनाता हैं।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 3

3. बिस्नाथ पर क्या अत्याचार हो गया था?

उत्तर: बिसनाथ अभी भी मां के दूध पर निर्भर ही था कि उसके छोटे भाई का जन्म हो गया।छोटे भाई के जन्म के साथ, वह अपनी मां के दूध से भी वंचित हो गया।बिसनाथ अभी खुद बच्चे थे पर निसंदेह उनका भाई उनसे छोटा था।इसलिए 6 महीने तक मा के दूध पर उसका एकाधिकार बना रहना था।बिसनाथ के लिए यह किसी अत्याचार से कम नहीं था, जो सही भी था, क्योंकि अब उसका छोटा भाई उनके हिस्से का दूध पीता था।यह बिसनाथ को यातना के सामन था, क्योंकि अब उन्हें  गाय के दूध पर निर्भर रहना पड़ता था।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 4

4. गरमी और लू से बचने के उपायों का विवरण दीजिए।क्या आप भी उन्न उपायों से परिचित हैं?

उत्तर: गरमी और लू से बचने के लिए निम्नलिखित उपाय अपनाए जाते थे – 

  1. प्याज को धोती और कुर्ते में गाठ लगाकर बांधा जाता था।

  2. कच्चे आम को आग में पका कर उसका रस बनाकर पिया जाता था।

  3. कच्चे आम को पकाकर, तलकर, उबालकर उससे सर को धोया जाता था।

  4. कच्चे आम को भूना जाता था और उसको गुड और चीनी के साथ मिलाया जाता था।इससे शरीर पर लगाया जाता था और स्नान किया जाता था।

प्याज बांधने,आम पना पीने, भुने हुए आम से सिर धोने के उपाय से तो मैं कहीं ना कहीं अवगत हूं पर शरीर पर लगाने और नहाने वाले उपाय ना तो कहीं देखे और ना ही सुने।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 5

5. लेखक बिसनाथ ने किन आधारो पर अपनी मां कि तूलना बतख के साथ की हैं?

उत्तर: जिस तरह बतख अपने अंडो की देखभाल करती हैं ठीक उसी प्रकार बिसनाथ की मां भी अपने बच्चो की देखभाल बत्तख कि तरह करती हैं।वास्तव में,बतख की इस तथ्य की विशेषता हैं की वह अंडे देने के बाद पानी में नहीं जाती हैं और जब तक अंडों से बच्चे नहीं निकलते वह उन्हें सेकती रहती हैं।वह अपने अंडों को पंखों के बीच रखती हैं,वह अपने बच्चो की सुरक्षा के लिए सतर्कता के साथ साथ कोमलता से काम करती हैं।एक ओर जहां वह सतर्क रहती हैं, वहीं वह अंडों में से निकलने वाले बच्चो को किसी भी तरह के नुकसान से भी बचाती हैं।इसी तरह बिसनाथ की मा भी बच्चो को सुरक्षा देती हैं।बच्चो को कोमलता के साथ खिलाती हैं , उनके साथ सोती हैं,उनका पूरा खयाल रखती हैं,उनके सारे काम भी करती हैं।इसलिए बिसनाथ ने अपनी मा कि तुलना बतख से कि हैं।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 6

6. बिस्कोहर में हुई बरसात का जो वर्णन बिसनाथ ने किया है उसका वर्णन अपने शब्दो में कीजिए ।

उत्तर: बिस्कोहर में बारिश सामान्य तरीके से नहीं होती,बड़े ही अलग और भयंकर तरीके से होती है।

पहले आसमान में गंघोर बादल छा जाते है और फिर वह गरजते हैं। अगर दिन के समय बदल क्या गए तो मानो ऐसा लगता है जैसे रात हो गई हो।उसके बाद तेज बारिश होने लगती हैं, तबला, मृदंग ,सितार जैसी बारिश कि आवाजे सुनाई देती हैं,लेकिन जब बारिश बहुत तेज होती है तब मानो ऐसा लगता है कि घोड़े बहुत तेज दोड़ते हुए घर की तरफ आ रहे हैं।बारिश के कारण प्रत्येक स्थान पानी पानी हो जाता है। अगर एक बार बारिश शुरू हो गई तो कई दिनों तक होती रहती हैं।जिसके कारण घर की छत उड़ जाती हैं,ज़मीन धस जाती हैं,नदी और नाले भर जाते हैं,नदियों में बाढ आ जाती हैं। गाव के सभी पशु पक्षी बारिश का आनंद लेते हुए भागते हुए नजर आते हैं।पहली बारिश से चरम रोग ठीक हो जाता हैं।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 7

7. फूल केवल गंध ही नहीं देते बल्कि दवा भी करते हैं,कैसे?

उत्तर: हमने देखा कि लोगों का मानना है कि फूल केवल अपनी सुगंध और रंग के कारण ही पहचाने जाते हैं।लेकिन लेखक इस बात से सहमत नहीं हैं कि फूल केवल गंध ही देते हैं बल्कि दवा का काम भी करते है। वह ' भर भंडा ' फूल के बारे में कहते है कि इस फूल का दूध अगर आंखो में डाल दिया जाए तो आंखो से सम्बन्धित सभी बीमारियां ख़तम हो जाती हैं।नीम के फूल को अगर चेचक के उपर  लगाया जाए तो चेचक ठीक हो जाता है। बेर के फूलों को सूंघने मात्र से ही ततैए का डंक ख़तम हो जाता जाता है।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 8

8.' प्रकृति सजीव नारी बन गई ' – इस कथन के संदर्भ में प्रकृति, नारी, और सौंदर्य की मान्यताओं को स्पष्ट कीजिए।

उत्तर: लेखक की नजर में प्रकृति,नारी,सौंदर्य की कुछ मान्यताएं हैं जो आपस में जुड़ी हुई है।जब लेखक दस साल का था,तब उसने एक महिला को देखा था जो उससे दस साल बड़ी थी और अद्भुत सुंदर थी।संतोषी भाई के आगं में एक जूही कि बेल थी, उससे आने वी सुगंध लेखक के जीवन तक को महका गई थी।यदि लेखक चांदनी रात में बेल पर फूल खिलता हुए चांदनी को देखता है तो उन्हें प्रतीत होता है कि चांदनी खुद जूही के फूलों का रूप लेकर एक लता के रूप में उग गई है।यह लेखक प्रकृति को जूही,खुशबू,स्त्री और लता के रूप में देखता है।उनके लिए, वह अलग नहीं है बल्कि सब परस्पर जुड़े हुए हैं।वह प्रकृति में स्त्री को देखता है और स्त्री को प्रकृति के रूप में ।


12:1:3 प्रश्न – अभ्यास: 9

9. ऐसी कौन सी स्मृति हैं जो लेखक को मृत्यु का बौध अजीब तौर से जुड़ा मिलता हैं।?

उत्तर:  लेखक ने एक बार गांव में ठुमरी सुनी।ठुमरी सुनकर लेखक को रोने का मन करने लगा।लेखक कहता है कि ठुमरी को सुनते ही ,उसे उस महिला की याद आती है जो अपने मृत्यु कि गोद में गए पति को याद करती हैं।उससे बस अपने प्रिय से मिलने का इंतजार रहता है।उसका प्रियतम हर रूप में उसके साथ हैं।इस स्मृति को याद करके, लेखक अजीब तरह से मौत के अहसास से जुड़ जाता हैं।


NCERT Hindi Class 12 Solutions

NCERT Solutions for Class 12 Hindi (Core and Elective)

Latest syllabus NCERT Solutions for Class 12 Hindi (Core and Elective) is divided into two sections. Section A consists of the questions from two books, i.e. Aroh 2 and Vitan 2, while section B consists of the questions from the book Aroh 2. All books prescribed for class 12 CBSE students available for free download on our site in free PDF.

These books for Hindi Core named as Aroh 2 comprises eighteen chapters, and Vitan 2 includes four chapters and Hindi Elective Antra 2 contains four chapters, Antral 2 consists of 4 chapters. 


NCERT Solutions for Class 12 Hindi Elective Antral 2

At Vedantu, chapter-wise NCERT Solutions for Class 12 Hindi Elective for Antra Part 2 and Antral part 2 free downloads are available in the PDF format. 

NCERT Solutions Class 12 Hindi Antral part 2 includes all the chapter wise questions with answers for the following chapters:

Chapter 1: Surdas ki jhopdi, written by Shri Prem Chand

Chapter 2: Aarohan, written by Shri Sanjeev

Chapter 3: Biskohar ki Mati, written by Viswanath Tripathi

Chapter 4: Aapna Malwa – Khau ujaru sabhyata me, written by Prabhas Joshi 


NCERT Solutions Class 12 Hindi Antral 2 Chapter 3 Biskohar ki Mati, written by Shri Viswanath Tripathi

The story is a part taken from Shri Vishwanath Tripathi's Autobiography named Nanga Talai ka gaon. This text is written in the autobiographical style and is very much interesting and readable.

The author has tried to reach the reader expressing the rural lifestyle, folk tales, folk beliefs with the help of explaining the importance of the mother, his village and its natural and amazing things.

The author tried to explain that our villages do not have facilities like our urban areas, and people have to be dependent on nature for so many essential things. However, the other side of this dependency is also to enjoy the natural beauty that he explained and presented in a very realistic way.

Many times in the village, people do not get access to hospitals even in emergencies, so the medicines and modern treatments are not readily available to them. They usually treat themselves with the flowers, leaves etc. obtained from natural plants.

The author kept himself as the main character and his village named Biskohar the centre of the story. He also explained the problem which the people of villages have to face during summers, Rainy season and in extremely cold weather. The author also presented the thought arose in his mind when at the age of ten, the author sees a lady who is ten years older than him, an exciting way. In the entire composition, the author has presented his seen reality with natural beauty. The writer's style is unique in itself. 

At Vedantu, the students can get direct links for downloading Class 12 Hindi NCERT Solutions for Antral 2 chapter 3,  Important Question,  sample papers etc. 

At the end of Chapter 3, nine practice questions are asked, and their answers are available in an easily understandable language, that will help students to clear the concept and get higher ranks in coming CBSE Board Hindi examinations 2020-21.    


How Does Vedantu Help to Score Well?

Vedantu.com endeavours students to download the complete study solution like online classes, live sessions, chapter-wise notes, the previous year's solved question papers with their answers, Important questions with their reply for NCERT Class 12 Hindi examinations.

Reference-book solutions and the revision notes including NCERT books for the preparation of NCERT Class 12 Hindi examinations according to the latest and revised syllabus for 2020-2021 free of cost.

Vedantu is an online learning platform that offers premier education services at a lower cost. In other words, it is cheaper than tuition classes. By using the online classes, students can learn as per their own pace. Solutions which we get are from highly qualified teachers and professors.

A unique model for one on one video sessions with subject experts is the USP of Vedantu.

FAQs (Frequently Asked Questions)

1. Are NCERT Solutions for Class XII Hindi Antral 2 Chapter 3 Biskohar ki Mati, enough to prepare for the board exams 2020-21?

Yes, NCERT solutions Class 12 Hindi Antral 2 Chapter 3 Biskohar ki Mati,  available on Vedantu is enough to prepare all the concepts in-detail and secure higher positions in the CBSE board examinations.

2. Can I get chapter wise class 12 NCERT Solutions for Hindi Antral part 2 in pdf format?

Yes, Students can avail NCERT Solutions chapter-wise for CBSE Class 12 Hindi Antral 2 book from Vedantu.

3. Suggest the best website for preparation to secure the top positions in the Hindi board examination?

Students can download chapter-wise NCERT class 12 Hindi complete solutions arranged systematically. Vedantu is a reliable website which provides the complete preparation resources free of cost for securing the top positions in Hindi board examination.

4. How to download NCERT-Solutions for Class 12 Hindi Antral 2 Chapter 3 Biskohar ki Mati?

One can download NCERT Solutions for Class 12 Antral 2 Chapter 3 Biskohar ki Mati Pdf via the quick links available on our page for free of cost for the preparation of final CBSE board examinations.

Share this with your friends
SHARE
TWEET
SHARE
SUBSCRIBE