NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 13 - Anyay Ke Khilaf

NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 13 - Anyay Ke Khilaf PDF Download

The solutions for the NCERT textbook for class 8th, Chapter 13 helps in increasing the understanding as well as the conceptual knowledge of the story, “ Anyay ke khilaf”. These solutions will help in providing a complete overview of the story as well as help in understanding what the writer wants to express. The importance of knowing and acknowledging what the writer has expressed using the story is very important. 

The NCERT Solutions can help a student in preparing for any such questions which would involve a deeper understanding of the whole topic rather than what is simply mentioned. This can also lead to finding new links and can prove beneficial in the long run as it helps prepare for the future. As a language-based subject, a student can easily score good marks in this particular subject and thus obtain a better overall grade. NCERT textbooks on a whole can prove factorial positive in the long run, especially for students who seek to write for competitive exams.   

You can also Download NCERT Solution for Class 8 Maths and NCERT Solutions for Class 8 Science to help you to revise the complete Syllabus and score more marks in your examinations.   

Do you need help with your Homework? Are you preparing for Exams?
Study without Internet (Offline)
Access NCERT Solutions for Class 8 Hindi पाठ १३ - अन्याय के खिलाफ (कहानी) part-1

NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 13 - Anyay Ke Khilaf

1. पाठ से

(क) आंध्र के घने जंगलों में रहने वाले आदिवासियों के बीच अपना हक जमाने के लिए अंग्रेज़ों ने क्या किया?

उत्तर: आंध्र के घने जंगलों में रहने वाले आदिवासियों के बीच अपना हक जमाने के लिए अंग्रेजों के द्वारा उस रास्ते की नाकाबंदी करवा दी गई जिस रास्ते से आदिवासी अपने लिए भोजन एवं पानी लेकर जाते थे। अंग्रेजों के ऐसा करने से आदिवासियों का जीवन बहुत ही कठिन हो चुका था, जिससे उनके भूखे मरने की हालत हो चुकी थी और इसी के चलते अपना जीवन बचाने के लिए आदिवासियों के पास अंग्रेजों के सामने अपना सर झुकाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं था।

(ख) श्री राम राजू कौन था? उसने अंग्रेज़ों के सामने आत्मसमर्पण क्यों किया?

उत्तर: श्री राम राजू एक पढ़े-लिखे व्यक्ति थे। उन्होंने हाई स्कूल की शिक्षा प्राप्त की हुई थी। स्कूल की शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात उन्होंने साधु बनने का फैसला किया जब उनकी उम्र केवल 18 साल थी। उन्होंने आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार के विरुद्ध आवाज उठाने के लिए उन्हें प्रेरित किया| श्री राम राजू की  ऐसी सोच से सभी आदिवासी सहमत थे और उन्हें अपना नेता मानने लगे।श्रीराम राजू के द्वारा अंग्रेजों के सामने आत्मसमर्पण इसलिए किया गया क्योंकि अंग्रेजों ने उनके सभी खाने पीने वाले रास्तों पर नाकाबंदी लगा दी थी जिस कारण उनके भूखे मरने की नौबत आ चुकी थी तो श्री राम राजू ने आत्मसमर्पण का फैसला किया।

(ग) अंग्रेज़ों से लड़ने के लिए कोया आदिवासी क्या क्या करते थे?

उत्तर: अंग्रेजों से लड़ने के लिए कोया आदिवासियों द्वारा अपने आप को बचाने के लिए यह रास्ता अपनाए गए थे| वह घने जंगलों में पेड़ों के पीछे छुप छुप कर अंग्रेजी सेना पर हमला किया करते थे तथा गुप्त रास्तो से भी अंग्रेजी सेना पर आदिवासियों द्वारा हमला किया जाता था। जब अंग्रेज़ी सेना एक साथ होकर जंगल के रास्ते से गुजरते तो वह कुछ भारतीय सैनिकों को छोड़ देते थे और अन्य लोगों को जैसे अंग्रेज़ी सारजेन्ट या कैप्टन पास आते तो उन्हें मार देते थे| 

(घ) कोया आदिवासियों के विद्रोह को स्वतंत्रता संग्राम क्यों कहना चाहिए?

उत्तर: अत्याचार के विरुद्ध जब भी किसी व्यक्ति या समूह के द्वारा कोई लड़ाई लड़ी जाती है तो उसे स्वाधीनता या स्वतंत्रता संग्राम कहा जा सकता है। यहां भी कुछ ऐसा ही हुआ अंग्रेजों के अत्याचार से परेशान हुए आदिवासियों ने उनके खिलाफ आवाज उठाना शुरू कर दिया और देखते ही देखते इसने एक नया रूप धारण कर लिया जिसे स्वतंत्रता संग्राम कहा जा सकता है। अंग्रेजों ने आदिवासियों को बिना मजदूरी के सड़क बनाने का आदेश दिया था और यह एक प्रकार का आदिवासियों पर अत्याचार था। इन्हीं आदिवासियों द्वारा की गई इस लड़ाई को स्वतंत्रता संग्राम का कहा जा सकता है। 

4. क्या ठीक होगा?

(i) "दो दिन में जंगल में सड़क बनाने का काम शुरू होगा। तुम सब लोगों को इस काम पर पहुँचना है। अगर नहीं पहुँचे तो ठीक नहीं होगा।"

(ii) "काम करेंगे तो बदले में क्या मिलेगा।"

ऊपर के कथनों में पहला कथन तहसीलदार बेस्टीयन का है जो आदिवासियों के गाँवों में जाकर चिल्ला चिल्लाकर बोला था और दूसरा कथन आदिवासियों में से किसी का है जो तहसीलदार से पूछना चाहा रहा था।

अब तुम सोचकर बताओ कि

(क) तुम्हारे विचार से बेस्टियन का कथन ठीक होगा?

उत्तर: मेरे विचार से बेस्टियन के द्वारा कहा गया कथन बिल्कुल ही अनुचित था।

(ख) आदिवासियों में से किसी के द्वारा कहा गया वह कथन कैसा है? तुम्हारे विचार से क्या ठीक होगा? (संकेत: तुम अपनी पसंद के कथन को अपने ढंग से लिख सकते हो)

उत्तर: आदिवासियों में से किसी एक व्यक्ति के द्वारा यह प्रश्न किया गया जोकि बिल्कुल उचित था क्योंकि कोई भी व्यक्ति अगर किसी काम को करेगा तो उसको उसके बदले में मेहनताना मिलना आवश्यक  है क्योंकि किसी भी व्यक्ति के द्वारा  किसी तरह का कार्य तभी पूर्ण किया जा सकता है जब वह स्वास्थ्य से बिल्कुल ठीक हो एवं उसका पेट भरा हो और तभी मनुष्य किसी भी कार्य को करने में सक्षम होता है।

6. तुम्हारे विचार से

(क) राजू हाई स्कूल तक पढ़ाई करने के बाद जंगलों में रहने क्यों आया होगा? 

उत्तर: राजू ने हाई स्कूल की शिक्षा प्राप्त की हुई थी। संसार में चारों तरफ फैले हुए अत्याचार एवं भ्रष्टाचार से उसका मन अत्यधिक दुखी हो गया होगा। अंग्रेजों के प्रति उसके मन में विद्रोह का भाव था| अतः उसने फैसला किया होगा कि क्यों न इस सांसारिक मोह माया का त्याग करके मैं एकांत में अपना जीवन यापन करूं और तभी वह समाज का त्याग कर एक साधु की वेशभूषा धारण कर जंगल में चला गया होगा। 

(ख) राजू के शहीद होने का आदिवासियों के आंदोलन पर क्या असर हुआ होगा?

उत्तर: राजू के शहीद होने पर आदिवासियों का आन्दोलन टूट गया क्योंकि केवल एक राजू ही ऐसा व्यक्ति था जिसने अंग्रेजो के खिलाफ आदिवासियों को आवाज उठाने की प्रेरणा दी थी। राजू के शहीद हो जाने के पश्चात आदिवासियों की हिम्मत टूट चुकी थी। वह पूरी तरह से टूट चुके थे। तब आदिवासियों ने आत्मसमर्पण कर अंग्रेजों की गुलामी करना शुरू कर दिया।

8. मुहावरे

नीचे लिखे वाक्यों में मुहावरों का प्रयोग किया गया है। इन्हीं मुहावरों का प्रयोग करते हुए तुम कुछ नए वाक्य बनाओ।

(क) एक सिपाही ने उसका काम तमाम कर दिया।

(ख) आदिवासियों की हिम्मत जवाब देने लगी।

(ग) अंग्रेज़ों ने अपने दांतों तले उँगली दबा ली।

(घ) किसी को कानो-कान खबर न हो।

(ङ) अंग्रेज़ सरकार के छक्के छूट गए।

(च) अंग्रेज़ों के होश उड़ गए।

(छ) भारतीय सैनिकों का बाल बाँका न होने पाए।

उत्तर: (क) आदिवासियों ने भी कई अंग्रेजों का काम तमाम कर दिया। 

(ख) पिताजी की मृत्यु के बाद श्याम की हिम्मत जवाब देने लगी।

(ग) इतनी सुंदर चित्रकारी देखकर अंग्रेजों ने दांतों तले उंगली दबा ली।

(घ) आदिवासियों ने अंग्रेजी सेना पर इस प्रकार छुपकर वार किया कि किसी को कानों कान खबर नहीं हुई।

(ङ) जब आदिवासियों द्वारा अंग्रेजी सेना पर जंगल के रास्ते से छुप छुप कर वार किया गया तो अंग्रेजी सेना के छक्के छूट गए।

(च) जैसे ही राम ने पिताजी को अपने विद्यालय में आते देखा तो उसके होश उड़ गए।

(छ) सफाई ज़रा देखकर करना महंगे फूलदानों का बाल भी बांका ना हो।

10. वचन बदलो

(क) सिपाही ने राजू पर गोली चलाई।

सिपाहियों ने  ......................................

(ख) उगी हुई फसल को जलाया जाने लगा।

..............................................................

(ग) आदिवासी की हिम्मत जवाब दे गई।

..............................................................

(घ) आगे से यह सवाल मत पूछना।

..............................................................

उत्तर: (क) सिपाहियों के द्वारा राजू पर गोलियाँ चलाई गई।

(ख)  अंग्रेजों के द्वारा आदिवासियों की फसलों को जलाया जाने लगा।

(ग)  अंग्रेजों के खिलाफ लड़ते-लड़ते आदिवासियों की हिम्मत जवाब देने लगी।

(घ) आगे से इस प्रकार के प्रश्नों को बिल्कुल भी मत करना।

11. समझकर रूप बदलो

भाववाचक संज्ञा से विशेषण बनाओ।

घमंड  - घमंडी

हिम्मत

साहस

स्वार्थ

अत्याचार

विद्रोह

उत्तर:  घमंड - घमंडी

हिम्मत - हिम्मती

साहस - साहसी

स्वार्थ - स्वार्थी

अत्याचार - अत्याचारी

विद्रोह - विद्रोही

NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 13 - Anyay Ke Khilaf

NCERT Solutions for Class 8th Hindi Textbook ‘Durva’ Chapter 13 "Anyay Ke Khilaf” – PDF Downloadable Version

The PDF downloadable version of the solutions to the NCERT Hindi Textbook ’Durva’, provides ease, for every time a student does not need to go online to search for the solutions. This also helps in maintaining a constant flow of studies as the student will have every topic, handy and thus better performance during the examinations. The textbook solutions also provide a more holistic overview and solutions to all the questions mentioned in the textbook itself. 

As per the guidelines of CBSE, each chapter in the textbook is important and so in order to better understand, a student can easily download the PDF version and use it as per their needs.

NCERT for Class 8th Hindi Textbook ‘Durva’ Chapter 13 "Anyay Ke Khilaf” – Chapter Brief

The story, “Anyay ke khilaf”, is set during the British era and revolves around the struggles of a tribe ‘Koya’ and a learned monk ‘Raju’. The story talks about the person Shree Ram Raju who completes his high school but looking at all the corruption that surrounds him, he decided to turn into a monk and live in the jungles. He was very lucky to find companions in the form of the tribal people. They would lead a war against the British army together.

The Britishers were to get a road built and forced the villagers and the tribal people to do their work for them. Having to refuse, the Britishers called on their army which led to a war between the Koya tribe and the Britishers. This was led by Raju, who encouraged the tribals to be one with the forest and rather use it to their advantage. They would attack the army by hiding in the small lanes that would and when the army would march by those lanes, the tribal people would attack them.

They would also loot the army and police station of their weapons. This led to a crucial fight between the Britishers and the Koya tribe. The story ends on a sorry note where Raju the protagonist of the story is killed by the British Army leaving the tribe to disarray.

NCERT Solutions for Class 8th Hindi Textbook ‘Durva’ Chapter 13 "Anyay Ke Khilaf” – Marks and Weightage

The chapter does not have a particular weightage assigned to it but as a story based chapter, students can expect long 4 marks descriptive questions or 2 marks small answer based questions. For students to excel it is important that they go through every question and understand the story rather than simply mugging up the answers.

Importance of Solutions to ‘Durva’ Chapter 13 "Anyay Ke Khilaf”

  • The solutions provided are to the mark and easy to read.

  • All solutions are written down by experienced teachers and professors which make them reliable for students.

  • As a scoring subject, it is important that the student is well versed with the topic and the PDF solutions provide a quick key to understand the topic very well.

FAQs (Frequently Asked Questions)

1. What Were the Ways in Which Koya Tribals Used to Fight the Britishers?

The Koya tribal people would hide in the forests, mostly around the narrow footpaths. They would use the forest as a resource to fight the Britishers and even if the British army would pass by those particular trials or small pathways, they would let the Indian army men out of them and kill him as soon as the English sergeant or captain was coming. They even attacked the police stations, army posts, looted them and fled.

2. Even After Studying Till High School, Why Would Raju Come Down to Live in a Jungle?

He has been very unhappy and his mind was upset with all the corruption spreading around the world, so this led to him becoming a monk. This must have made him drift away from society. It was also the time that he got into a rebellion against the British. This led him to come down and live in the forest, though luckily he found companions in there.

Share this with your friends
SHARE
TWEET
SHARE
SUBSCRIBE