Important Questions for CBSE Class 12 Hindi Antra Chapter 14 Kaccha chitta

CBSE Class 12 Hindi Antra Important Questions Chapter 14 Kaccha chitta - Free PDF Download

Free PDF download of Important Questions with solutions for CBSE Class 12 Hindi Antra Chapter 14 Kaccha chitta prepared by expert Hindi teachers from latest edition of CBSE(NCERT) books.

Do you need help with your Homework? Are you preparing for Exams?
Study without Internet (Offline)
Important Questions for CBSE Class 12 Hindi Antra Chapter 14  Kaccha chitta part-1

Study Important Questions for Class 12 Hindi (Antra) Chapter - 14 कच्चा चिटठा

अति लघु उत्तरीय प्रश्न                                                                        (1 अंक)

1.संग्रहालय के नए भवन का नक्शा किसने बनवाया था?

उत्तर : संग्रहालय के नए भवन का नक्शा जवाहरलाल नेहरू ने बंबई के विख्यात इंजीनियर ‘मास्टर साठे और मूता’ से बनवाया था।


2. ओरिएंटल कॉन्फ्रेंस का अधिवेशन कहाँ पर था?

उत्तर : ओरिएंटल कॉन्फ्रेंस का अधिवेशन मैसूर में था।


3. लेखक कौन से सन में कौशाम्बी गया था?

उत्तर : लेखक 1936 में कौशांबी गया था।


4. बुढ़िया ने मूर्ति देने के बदले कितने रुपए लिए थे?

उत्तर : बुढ़िया ने मूर्ति देने के बदले 2 रुपए लिए थे।


5. 1938 में गवर्मेंट ऑफ इंडिया के पुरातत्व विभाग का डायरेक्टर जनरल कौन था?

उत्तर : 1938 में गवर्मेंट ऑफ इंडिया के पुरातत्व विभाग के डायरेक्टर जनरल रायबहादुर के एन दीक्षित थे।


लघु उत्तरीय प्रश्न                                                                                 (2 अंक)

6. ‘चोर की दाढ़ी में तिनका’ इस लोकोक्ति का अर्थ स्पष्ट कीजिए?

उत्तर : चोर की दाढ़ी में तिनका का अर्थ है किसी चोर का चोरी करते हुए पकड़ा जाना क्योंकि जिस ने गलत किया होता है वह अपनी जुर्म भावना से ही घबरा जाता है।


7. लभते वा प्रार्थयता न वा श्रीयम श्रिया दुराप: अर्थ स्पष्ट करें?

उत्तर : उपरोक्त पंक्ति में कवि कहना चाहता है कि लक्ष्मी की इच्छा करने वाले को लक्ष्मी मिले या ना मिले परंतु यदि लक्ष्मी किसी के पास जाना चाहे तो उन्हें कौन रोक सकता है।


8. ‘ना कुकुर भूका ना पहरू जागा’ इस लोकोक्ति से आप क्या समझते हैं?

उत्तर : कुत्ता और पहरेदार जब किसी घर की पहरेदारी कर रहे होते हैं तो वहां चोरी नहीं होती, चोर डर से भाग जाता है। लेकिन यहाँ जब लेखक शिव की मूर्ति को चुराता है तो ना ही कुत्ता भूकता है और ना ही पहरेदार जगा रहता है। इसी के परिणाम स्वरूप चोरी हो गई।


9. काक: कृष्ण: पिक:  कृष्ण: को भेद पिककाक्यों:। प्राप्ते वसंते समये काक: काक: पिक: पिक:।।” भवार्थ लिखिए?

उत्तर : कवि कहना चाहता है कि कौवा भी काला होता है, कोयल भी काली होती है। दोनों में भेद क्या है। परंतु वसंत ऋतु के आते ही पता चल जाता है कि कौवा कौन है और कोयल कौन है।


10. संग्रहालय को बड़ा बनाने के लिए किस-किस का योगदान अतुलनीय है?

उत्तर : संग्रहालय को बड़ा बनाने में 4 महानुभावों का महत्वपूर्ण योगदान था। राय बहादुर कामता प्रसाद कन्नड़, हिज़ हाईनेस श्री महेंद्रसिंहजू देव नागौद नरेश और उनके सुयोग्य दीवान लाल भार्गवेंन्द्र सिंह जिनके भरहुत और भूमरा संग्रह के कारण संग्रहालय का मस्तक ऊंचा हुआ और मेरा स्वामीभक्त अर्दली जगदेव, जिसके अथक परिश्रम से इतना बड़ा संग्रहालय बना।


 लघु उत्तरीय प्रश्न                                                                   (3 अंक)

11. कौशांबी से लौटते हुए लेखक साथ में क्या-क्या लेकर आया?

उत्तर : लेखक जहां कहीं भी जाता था, वह खाली हाथ नहीं लौटता था। अपने साथ वहां से जुड़ी कोई ना कोई पुरातत्व महत्व की वस्तु लेकर ही आता था। लेखक को गांव से मनके पुराने सिक्के मृणमूर्तियां इत्यादि मिली। कौशांबी लौटते हुए वह अपने साथ एक 20 सेर की शिव की पुरानी मूर्ति लाया था। यह मूर्ति उसे पेड़ के नीचे पत्थरों के ढेर के ऊपर मिली थी।


12. मूर्ति गायब होने पर लोग लेखक को क्यों दोष दे रहे थे?

उत्तर : लेखक को मूर्ति,पुराने सिक्के और शिलालेखों को इकट्ठा करने का शौक था। लेखक पुरातत्व महत्व की वस्तु को देखते ही अपने साथ ले जाता था। उसकी इस आदत से सभी परिचित थे। अतः कहीं भी मूर्ति गायब हो जाती थी, तो लोग लेखक का ही नाम लेते थे। इस बार भी गांव वालों को लेखक पर ही शक था। इसलिए लेखक बिना किसी विवाद के अपने दोष को स्वीकार कर लेता है।


13. “ईमान और संग्रह दोनों एक साथ बड़ी मुश्किल है” पाठ के आधार पर इस कथन को स्पष्ट कीजिए?

उत्तर : लेखक कहना चाहता है कि जो लोग ईमान की बात करते हैं वह कभी ना कभी बेईमान हो जाते हैं। लेखक ईमान जैसी चीज से स्वयं को मुक्त कर लेता है। लेखक की यह बात उस कथन से स्पष्ट होती है जब उसने बोधिसत्व की मूर्ति को पाने के लिए बुढ़िया को दो रुपए दिए थे। आगे चलकर उसे उस मूर्ति के हज़ार रुपए मिल रहे थे। लेकिन उसने बिना सोचे-समझे पैसे लेने से मना कर दिया। वह चाहता तो अपने दिए हुए दो रुपए तथा मेहनत को वसूल लेता लेकिन उसने ऐसा कुछ नहीं किया। वह अपने काम के लिए पूर्ण रूप से समर्पित था।


14. लेखक ने किन-किन महानुभाव का जिक्र अपने लेख में किया है?

उत्तर : लेखक ने निम्नलिखित महानुभाव का जिक्र अपने लेख में किया है।

1.पंडित जवाहरलाल नेहरू 

2. डॉक्टर ताराचंद 

3. डॉक्टर पन्नालाल 

4. मास्टर साठे और मूता 

5.रायबहादुर कामता प्रसाद 

6.ठाकुर गोपाल शरण सिंह 

7. सुयोग्य दीवान लाल भार्गवेन्द्रसिंह

8. हिज़ हाईनेस श्री महेंद्र सिंह जूदेव नागौर  

9.स्वामीभक्त अर्दली जगदेव 

10. डॉ सतीश चंद्र काला 


15. लेखक बृजमोहन व्यास का जीवन परिचय लिखिए?

उत्तर : ब्रजमोहन व्यास का जन्म 1886 में इलाहाबाद में हुआ था। पंडित बालकृष्ण भट्ट से उन्होंने संस्कृत का ज्ञान प्राप्त किया। वे 1921 से 1943 तक इलाहाबाद नगरपालिका के कार्यपालक अधिकारी थे। वे समाचार पत्र समूह लीडर के जनरल मैनेजर भी थे। इलाहाबाद में पुरातत्व संबंधित प्रयाग संग्रहालय के निर्माण में इनका महत्वपूर्ण योगदान है। इनके द्वारा इसमें दो हजार पाषाण मूर्तियां, पाँच हज़ार मृणमूर्तियां, कनिष्क के राज्य काल की प्राचीनतम बौद्ध मूर्तियां, खजुराहो की चंदेल प्रतिमाएं, सैकड़ों रंगीन चित्रों का संग्रह आदि शामिल है। उनकी इतिहास और पुरातत्व में गहरी रुचि थी उनकी संग्रहकारी प्रवृति के कारण वे देश और समाज को इलाहाबाद का विशाल और प्रसिद्ध संग्रहालय भेंट कर पाए। इनकी प्रमुख कृतियां इस प्रकार है। जानकी हरण( कुमार दास कृत का अनुवाद),  पंडित बालकृष्ण भट्ट (जीवनी), मदन मोहन मालवीय (जीवनी)। 23 मार्च 1963 को इनका देहांत हो गया।


 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न                                                         (5 अंक)

16. पसोवा के बारे में विस्तृत जानकारी दीजिए?

उत्तर : पसोवा एक जैन तीर्थस्थल है। प्राचीन काल से प्रतिवर्ष यहां जैनों का बहुत बड़ा मेला लगता है। मिलो दूर से हजारों जैन यात्री यहाँ आकर सम्मिलित होते हैं। इसी स्थान पर एक छोटी सी पहाड़ी थी जिसकी गुफा में बुद्धदेव व्यायाम करते थे। उसी पहाड़ी में एक नाग भी रहता था। इसी के समीप सम्राट अशोक ने एक स्तूप बनवाया था जिसमे बुद्ध के थोड़े से केश और नखखंड रखे गए थे। पसोवे में अब स्तूप और व्यामशाला के तो कोई चिन्ह  अब शेष नहीं रह गए परंतु वहां एक पहाड़ी अवश्य है, उस पहाड़ी का होना इंगित करता है कि यह स्थान वही है।


17. कर्तव्य पालन के संबंध में लेखक ने क्या कहा है?

उत्तर : इस के संदर्भ में लेखक का यह कहना है कि जिस प्रकार “चंद्रावन व्रत करती हुई बिल्ली के सामने एक चूहा स्वयं आ जाए तो बेचारी को अपने कर्तव्य का पालन करना पड़ता ही है” उसी प्रकार लेखक को भी किसी भी स्थिति में अपने कर्तव्य का पालन करना पड़ता है। चाहे कैसी भी स्थिति हो। लेखक कहीं भी जाता है तो खाली हाथ नहीं लौटता, लेकिन पसोवा में उसे कुछ खास वस्तुएं नहीं मिली। लेकिन जब गांव से बाहर निकले तो उन्हें एक शिव की मूर्ति मिली जो लगभग 20 सेर की थी और पेड़ के सहारे रखी हुई थी। उस समय लेखक की स्थिति उस बिल्ली के समान थी जो चंद्रावन व्रत करती है। वह चूहे को देखते ही भूल जाती है कि उसने व्रत भी किया है। उसी प्रकार लेखक उस मूर्ति को देखते ही अपना व्रत भूल जाता है और मूर्ति को उठाकर इक्के में रखकर चल देता है। यही लेखक का कर्तव्य है। 


18. गांववालों के उपवास के संबंध में अपनी प्रतिक्रिया दें।

उत्तर : गांव वालों को जब पता चलता है कि शिव की मूर्ति चोरी हो गई है तो उन्हें बहुत दुख होता है क्योंकि उनकी श्रद्धा उस मूर्ति के साथ जुड़ी होती है। वह मूर्ति उनके गांव के बाहर एक पेड़ के नीचे रखी हुई थी जिनकी वह रोज पूजा किया करते थे, लेकिन एक दिन उसे ना पाकर विचलित हो गए थे, बहुत दुखी हो गए और उन्होंने तय किया कि जब तक शिव की मूर्ति वापस नहीं आएगी वे ना कुछ खाएंगे और ना ही पिएंगे। इस तरह सभी ने उपवास करना आरंभ कर दिया। लेखक के स्वभाव से सभी गांव वाले परिचित थे इसलिए वे सभी लेखक के घर पहुंच गए और उनसे मूर्ति वापस मांगी। लेखक ने बिना किसी विवाद के मूर्ति को गांव वालों को लौटा दिया तथा मिठाई खिलाकर उनका व्रत तुड़वाया।


19. बोधिसत्व की मूर्ति, लेखक को कैसे मिली?

उत्तर : लेखक जब कौशांबी गया था तब वह खेतों की डाड़ डाड़ जा रहा था कि खेत की एक मेड़ पर बोधिसत्व की 8 फुट लंबी एक सुंदर मूर्ति पड़ी देखी। मथुरा के लाल पत्थर की थी। सिवाए सिर के पद स्थल तक वह संपूर्ण थी। मूर्ति देखते ही लेखक को पसंद आ गई थी और उसने अपने साथ ले जाने का इरादा कर लिया था। वह मूर्ति को उठाने के लिए आस पास से कुछ लोगों को बुलाता है लेकिन उसी समय उस खेत की मालकिन को आते देखता है जो वृद्धा अवस्था में है और लाचार है। मालकिन लेखक को देखते ही समझ जाती है कि लेखक को उस मूर्ति की जरूरत है। इसलिए वह उसे ले जाने से मना कर देती है। लेखक समझ गया था कि इस समय इस वृद्धा से उलझना ठीक नहीं है। उस वृद्धा का लालची स्वभाव देखते हुए लेखक ने उसे पैसे का लालच देते हुए 2 रुपये में मूर्ति खरीद ली और मूर्ति लेकर चल दिया। 


20. भद्रमठ शिलालेख के संबंध में घटित घटना का वर्णन करें।

उत्तर : लेखक ने भद्रमथ शिलालेख को पचीस रुपए में खरीदा था। वह उसे संग्रहालय में देना चाहता था। इस विषय पर विवाद खड़ा हो गया जिसके कारण उसे इस मूर्ति को गवर्मेंट ऑफ इंडिया के पुरातत्व विभाग को देना पड़ा। इससे लेखक को बहुत नुकसान उठाना पड़ा। वह जानता था कि जिस गांव से उसे शिलालेख मिल सकता है वहां से उसे अन्य पुरातत्व महत्व की वस्तुएं भी मिल सकती है। इस उद्देश्य से वह गुलजार मियां के यहां जा पहुंचा, यह स्थान कौशाम्बी से चार-पांच किलोमीटर दूरी पर था। जो गुलजार मियां के घर के ही पास था। उनके घर के पास एक कुआँ था। इसके चबूतरे पर चार खंबे लगे हुए थे। जब लेखक ने  बड़ेर पर देखा तो उस पर ब्राह्मी अक्षरों में कुछ लिखा हुआ था। लेखक के कहने पर गुलजार ने उन्हें खुदवा कर लेखक को दे दिया। इस तरह लेखक की भद्रमठ की शिलालेख की क्षतिपूर्ति हो गई। 

FAQs (Frequently Asked Questions)

1. What is the strategy to prepare Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra)?

The strategy for preparing Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra) is given below:

  • Go thoroughly through the chapter from the NCERT book.

  • Solve NCERT back questions of Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra).

  • Note-taking methods will help you to learn the chapter faster.

  • If you find reading the book boring then you can choose visual learning sources.

  • Avert studying for longer periods.

  • Practicing questions from previous year papers will help you to get a hint about the type of questions asked in the exam.

2. Why are Vedantu’s NCERT Solutions considered the best study material for Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra)?

Due to the following reasons, Vedantu’s NCERT Solutions are considered the best study material for studying Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra):

  • The NCERT Solutions are based on the syllabus designed by the CBSE.

  • Practicing these solutions will give you a brief introduction to the chapter.

  • The creators of the content are experienced teachers.

  • The dialect used to write the content is simple.

  • Most of the questions asked in the exam are taken from the NCERT Solutions. Vedantu offers complete NCERT Solutions for this chapter in a simple and easy language to help you out! 

3. How can one get good marks in Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra)?

Underneath is the technique one can acquire to get good marks in Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra):

  • Learn the chapter thoroughly from the NCERT book.

  • Practice all the NCERT Solutions to know how to write answers in the exam.

  • In the examination room, try to solve those questions first whose solution you know.

  • Write the answers according to the word limit in mind.

  • Keep your answer sheet simple this will create a good impression on the examiner.

4. Is Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra) easy?

The solution to this problem depends on student to student. It’s up to students how seriously they take their studies. According to their understanding level, the chapter becomes easy or difficult. If a student is brilliant then the chapter becomes easy for them and they solve more questions to have a strong grip. But if a student is an average student then they should start their preparation earlier and try to solve questions. By this, Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra) can become easy. Students can visit the Vedantu website and download the PDF free of cost.

5. What is the total number of questions present in Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra)?

Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra) is “Kachcha Chittha”. Shri Brij Mohan Vyas is the author of the chapter. There are two sections of questions. In the “PrashnaAurAbhyas” section there are 10 questions. The section “BhashaShilp” contains 2 questions. Therefore, there are a total of 12 questions in the chapter. The solutions to all these questions are available on the official page of Vedantu (vedantu.com) and on the vedantu app. Students can refer to the link given to get important questions of Chapter 14 of Class 12 Hindi (Antra).

Share this with your friends
SHARE
TWEET
SHARE
SUBSCRIBE