Courses
Courses for Kids
Free study material
Offline Centres
More
Store Icon
Store

NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 - In Hindi

ffImage
Last updated date: 13th Jul 2024
Total views: 493.2k
Views today: 9.93k

NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 Periodic Classification of Elements in Hindi PDF Download

Download the Class 10 Science NCERT Solutions in Hindi medium and English medium as well offered by the leading e-learning platform Vedantu. If you are a student of Class 10, you have reached the right platform. The NCERT Solutions for Class 10 Science in Hindi provided by us are designed in a simple, straightforward language, which are easy to memorise. You will also be able to download the PDF file for NCERT Solutions for Class 10 Science in English and Hindi from our website at absolutely free of cost. You can also download NCERT Solutions for Class 10 Maths to help you to revise complete syllabus and score more marks in your examinations.


NCERT, which stands for The National Council of Educational Research and Training, is responsible for designing and publishing textbooks for all the classes and subjects. NCERT textbooks covered all the topics and are applicable to the Central Board of Secondary Education (CBSE) and various state boards.


We, at Vedantu, offer free NCERT Solutions in English medium and Hindi medium for all the classes as well. Created by subject matter experts, these NCERT Solutions in Hindi are very helpful to the students of all classes.


Class:

NCERT Solutions for Class 10

Subject:

Class 10 Science

Chapter Name:

Chapter 5 - Periodic Classification Of Elements

Content-Type:

Text, Videos, Images and PDF Format

Academic Year:

2024-25

Medium:

English and Hindi

Available Materials:

  • Chapter Wise

  • Exercise Wise

Other Materials

  • Important Questions

  • Revision Notes

Access NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5: तत्वों का आवर्त वर्गीकरण

1. आवर्त सारणी में बाईं से दाईं ओर जाने पर,प्रवृत्तियों के बारे में कौन सा कथन असत्य है?

(a) तत्वों की धात्विक प्रकृति घटती है।

(b) संयोजकता इलेक्ट्रॉनों की संख्या बढ़ जाती है।

(C) परमाणु आसानी से इलेक्ट्रॉन का त्याग करते हैं।

(d) इनके ऑक्साइड अधिक अम्लीय हो जाते हैं।

उत्तर: (C) परमाणु आसानी से इलेक्ट्रॉन का त्याग करते हैं।


2. तत्व \[X,{\text{ }}XCl\], सूत्र वाला एक क्लोराइड बनाता है,जो एक ठोस है तथा जिसका गलनांक अधिक है।आवर्त सारणी में यह तत्व संभवतः किस समूह केअंतर्गत होगा?

(a) \[Na\]

(b) \[Mg\]

(C) \[Al\]

(d) \[Si\]

उत्तर: (b) \[Mg\]


3. किस तत्व में

(a) दो कोश हैं तथा दोनों इलेक्ट्रॉनों से पूरित हैं?

उत्तर: निऑन- \[Ne{\text{ }}\left( {2,8} \right)\]

(b) इलेक्ट्रॉनिक विन्यास \[2,8,2\] हैं?

उत्तर: मैग्नीशियम- \[Mg{\text{ }}\left( {2,{\text{ }}8,{\text{ }}2} \right)\]

(c) कुल तीन कोश हैं तथा संयोजकता कोश में चार इलेक्ट्रॉन हैं?

उत्तर: सिलिकॉप \[Si{\text{ }}\left( {2,{\text{ }}8,{\text{ }}4} \right)\]

(d) कुल दो कोश हैं तथा संयोजकता कोश में तीन इलेक्ट्रॉन हैं?

उत्तर: बोरॉन- \[B\left( {2,3} \right)\]

(e) दूसरे कोश में पहले कोश से दोगुने इलेक्ट्रॉन हैं?

उत्तर: कार्बन- \[C{\text{ }}\left( {2,{\text{ }}4} \right)\]


4. (a) आवर्त सारणी में बोरान के स्तंभ के सभी तत्वों के कौन-से गुणधर्म समान हैं?

उत्तर: बोरान की तरह स्तंभ \[13\] के सभी तत्वों में संयोजकता इलेक्ट्रॉन की संख्या \[3\] है तथा संयोजकता भी \[3\] है।

(b) आवर्त सारणी में फ्लुओरीन के स्तंभ के सभी तत्वों के कौन-से गुणधर्म समान है?

उत्तर: \[F\left( {2,7} \right)\] :: स्तंभ संख्या \[ = {\text{ }}7{\text{ }} + {\text{ }}10{\text{ }} = {\text{ }}17\] फ्लोरीन \[\left( F \right)\] की तरह इस ग्रुप (स्तंभ) के सभी तत्वों की संयोजकता इलेक्ट्रॉन क़ी संख्या \[7\] है तथा संयोजकता \[1\] है।


5. एक परमाणु का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास \[2,{\text{ }}8,{\text{ }}7\] है।

(a) इस तत्व की परमाणु-संख्या क्या है?

उत्तर:  इस तत्व की परमाणु संख्या \[17\] है।

(b) निम्न में किस तत्व के साथ इसकी रासायनिक समानता होगी? (परमाणु-संख्या कोष्ठक में दी गईहै)

N(7)

F(9)

P(15)

Ar(18)

उत्तर:

N(7) = 2,5

F(9) = 2,7

P(15) = 2,8,5

Ar(18) = 2,8,8

\[F\left( 9 \right)\] में संयोजकता इलेक्ट्रॉनों की संख्या \[7\] है दिए गए तत्व के समान है। अतः इस तत्व के रासायनिक गुण \[F\] के समान होंगे।


6. आवर्त सारणी में तीन तत्व \[A,{\text{ }}B\] तथा \[C\] की स्थिति ,निम्न प्रकार है:

समूह 16

-

-

-

\[B\]

समूह 17

-

\[A\]

-

\[C\]

अब बताइए कि

(a) \[A\] धातु है या अधातु।

उत्तर: \[A\] अधातु है क्योंकि समूह \[17\] आवर्त सारणी के दाईं ओर है।

(b) \[A\] की अपेक्षा \[C\] अधिक अभिक्रियाशील है या कम?

उत्तर: \[C,{\text{ }}A\] से कम अभिक्रियाशील होगी, क्योंकि समूह में ऊपर से नीचे बढ़ने पर हैलोजन कीअभिक्रियाशीलता घटती है।

(c) \[C\] का साइज़ \[B\] से बड़ा होगा या छोटा? 

उत्तर: \[C\] का साइज़ \[B\] से छोटा होगा, क्योंकि आवर्त में बाईं ओर से दाईं ओर बढ़ने पर परमाणु का साइज़ घटता है।

(d) तत्व \[A\] किस प्रकार के आयन, धनायन या ऋणायन बनाएगा?

उत्तर: \[A\] ऋणायन बनाएगा क्योंकि इसके बाहरी कोश में $7$ इलेक्ट्रॉन है। अतः $1$ इलेक्ट्रॉन ग्रहण कर ऋण आवेश (आयन) (\[A\]) बनाएगा।


7. नाइट्रोजन (परमाणु-संख्या $7$) तथा फॉस्फोरस (परमाणु-संख्या \[15\]) आवर्त सारणी के समूह \[15\] तत्व हैं। इन दोनों तत्वों का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए। इनमें से कौन-सा तत्व अधिक ऋण विद्युत होगा और क्यों?

उत्तर: नाइट्रोजन ($7$) का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास \[ - 2,{\text{ }}5\] फॉस्फोरस (\[15\]) का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास \[ - 2,{\text{ }}8,{\text{ }}5\]  चूँकि नाइट्रोजन में दो कोश तथा फॉस्फोरस में 3 कोश हैं इसलिए नाइट्रोजन का परमाणे साइज कम होने के कारण नाभिक को आवेश इलेक्ट्रॉन को आसानी से ग्रहण कर ऋणायन बना लेता है। अतःनाइट्रोजन अधिक विद्युत ऋणात्मक होगा, क्योंकि किसी वर्ग में ऊपर से नीचे जाने पर विद्युत ऋणात्मक घटती है।


8. तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास का आधुनिक आवर्तसारणी में तत्व की स्थिति से क्या संबंध है?

उत्तर: आधुनिक आवर्त सारणी में तत्वों को उसके इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के आधार पर व्यवस्थित किया गया है।

कोशों की संख्या = आवर्त संख्या

बाहरी कोश में इलेक्ट्रॉनों की संख्या (संयोजकता इलेक्ट्रॉन) से समूह (ग्रुप) संख्या निर्धारित होती है। संयोजकता इलेक्ट्रॉन $1$ वाले तत्वों को ग्रुप $1$ में, संयोजकता इलेक्ट्रॉन \[2\] वाले तत्वों को ग्रुप \[2\] मेंतथा संयोजकता इलेक्ट्रॉन \[3\] वाले तत्वों को ग्रुप \[13\] में (\[3\] या \[3\] से ज्यादा संयोजकता इलेक्ट्रॉन के लिएग्रुप संख्या = संयोजकता इलेक्ट्रॉन \[ + {\text{ }}10{\text{ }} = {\text{ }}3{\text{ }} + 10{\text{ }} = 13)\]

उदाहरण के लिए, $Na:\mathop K\limits_2 ,\mathop L\limits_8 ,\mathop M\limits_1 $

आवर्त \[ = 3\]

समूह  \[ = 1\]


9. आधुनिक आवर्त सारणी में कैल्शियम (परमाणु-संख्या \[20\]) के चारों ओर \[12,{\text{ }}19,{\text{ }}21\] तथा \[38\] परमाणु-संख्या वाले तत्व स्थित हैं। इनमें से किन तत्वों के भौतिक एवं रासायनिक गुणधर्म कैल्शियम के समान हैं।

उत्तर: कैल्शियम \[\left( {Ca} \right)\] का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास \[ = {\text{ }}2,{\text{ }}8,8,2\]

दिए गए तत्वों का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास-

परमाणु संख्या \[\left( {12} \right){\text{ }} = {\text{ }}2,8,{\text{ }}2\]

परमाणु संख्या \[\left( {21} \right){\text{ }} = {\text{ }}2,8,8,3\]

परमाणु संख्या \[\left( {19} \right){\text{ }} = {\text{ }}2,{\text{ }}8,{\text{ }}8,{\text{ }}1\]

परमाणु संख्या \[\left( {38} \right){\text{ }} = {\text{ }}2,{\text{ }}8,{\text{ }}8,{\text{ }}18,{\text{ }}2\]

चूँकि दिए गए तत्वों में से परमाणु संख्या \[12\] और \[38\] वाले तत्वों के बाहरी कोश में विद्यमान इलेक्ट्रॉनों की संख्या कैल्शियम के बाहरी कोश में स्थित इलेक्ट्रॉनों की संख्या के समान हैं अर्थात् इन दोनों तत्वों की संयोजकता इलेक्ट्रॉन \[Ca\] के समान हैं। इसलिए ये दोनों तत्व \[Ca\] की तरह भौतिक एवं रासायनिक गुणधर्म प्रदर्शित करेंगे।


10. आधुनिक आवर्त सारणी एवं मेंडेलीफ की आवर्त सारणी में तत्वों की व्यवस्था की तुलना कीजिए।

उत्तर: 

मेंडेलीफ की आवर्त सारणी

आधुनिक आवर्त सारणी

1. तत्वों को उनके बढ़ते परमाणु द्रव्यमान के क्रम में व्यवस्थित किया गया है।

1. तत्वों को उनके बढ़ते परमाणु संख्या के क्रम में व्यवस्थित किया गया है।

2. इसमें \[8\] समूह (ग्रुप) तथा \[6\] पिरियड (आवर्त) होते हैं।

2. इसमें \[18\] समूह (ग्रुप) तथा \[7\] पिरियड होते हैं।

3, मेंडेलीफ आवर्त सारणी में कई कमियाँ/विसंगतियाँ पाई गई; जैसे-हाइड्रोजन का स्थान, समस्थानिकों का स्थान, अधिक परमाणु द्रव्यमान वाले तत्व \[\left( {Co} \right)\] को \[\left( {Ni} \right)\] के पहले रखना आदि।

3. इसमें ये सारी कमियाँ/विसंगतियाँ नहीं पाई गई बल्कि दूर हो गई।

4. तत्वों के स्थान ग्रुप तथा आवर्त का अनुमान लगाना संभव नहीं है।

4. इसमें इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के आधार पर तत्वों के ग्रुप तथा आवर्त का पता चल जाता है।

5. इसमें संक्रमण तत्वों (Transition elements) का अलग से स्थान नहीं है।

5. इसमें संक्रमण तत्वों का अलग से स्थान है।

6. यह किसी ग्रुप में तत्वों के रासायनिक गुणों की समानता की व्याख्या करने में असमर्थ है।

6. किसी ग्रुप में तत्वों के रासायनिक गुण समान इसलिए होते हैं, क्योंकि इनमें तत्वों की संयोजकता इलेक्ट्रॉनसमान होती है। अर्थात् इसकी व्याख्या करने में समर्थहै।

7. इसमें अक्रिय गैस नहीं है।

7. इसमें अक्रिय गैसों के लिए अलग से स्थान है।

8. लैन्थैनाइड तथा ऐक्टिनाइड अनुपस्थित होते हैं।

8. इसमें आवर्त सारणी के नीचे लैन्थैनाइड तथा ऐक्टिनाइड होते हैं।


NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 Periodic Classification of Elements in Hindi

Chapter-wise NCERT Solutions are provided everywhere on the internet with an aim to help the students to gain a comprehensive understanding. Class 10 Science Chapter 5 solution Hindi mediums are created by our in-house experts keeping the understanding ability of all types of candidates in mind. NCERT textbooks and solutions are built to give a strong foundation to every concept. These NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 in Hindi ensure a smooth understanding of all the concepts including the advanced concepts covered in the textbook.

NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 in Hindi medium PDF download are easily available on our official website (vedantu.com). Upon visiting the website, you have to register on the website with your phone number and email address. Then you will be able to download all the study materials of your preference in a click. You can also download the Class 10 Science Periodic Classification of Elements solution Hindi medium from Vedantu app as well by following the similar procedures, but you have to download the app from Google play store before doing that.

NCERT Solutions in Hindi medium have been created keeping those students in mind who are studying in a Hindi medium school. These NCERT Solutions for Class 10 Science Periodic Classification of Elements in Hindi medium pdf download have innumerable benefits as these are created in simple and easy-to-understand language. The best feature of these solutions is a free download option. Students of Class 10 can download these solutions at any time as per their convenience for self-study purpose.

These solutions are nothing but a compilation of all the answers to the questions of the textbook exercises. The answers/ solutions are given in a stepwise format and very well researched by the subject matter experts who have relevant experience in this field. Relevant diagrams, graphs, illustrations are provided along with the answers wherever required. In nutshell, NCERT Solutions for Class 10 Science in Hindi come really handy in exam preparation and quick revision as well prior to the final examinations.

FAQs on NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 - In Hindi

1. What were the limitations of Dobereiner’s classification?

The Dobereiner’s Classification of triads of elements was quite successful in predicting the atomic mass and properties of the middle element. Further, this classification suggested that the properties of elements are connected to their atomic masses.

 

However, Dobereiner's classification had three limitations, which were:

  • The triads could not fit all the known elements at the time.

  • Elements with high or low mass could not be placed in the triad.

  • As improved methods to calculate mass were discovered the triad classification lost its potency.

2. Why does hydrogen occupy a unique position in the Modern Periodic Table?

It is difficult to decipher the position of hydrogen since it matches the properties of more than one group of elements so it can have two places. The two reasons for hydrogen to have a unique place in the Modern Periodic Table are:

  • Its electronic configuration is like the alkali metals since both have 1 electron in their outer shell.

  • Halogens and Hydrogen both have the same electronic configuration, hence they have similar properties.

3. If an element X is placed in group 14, what will be the formula and the nature of bonding of its chloride?

Element X is placed in group 14, so its valency will be 4. While we know the atomic number of Chlorine is 17 and its valency is 1. Therefore, element X will form a covalent bond with 4 atoms of chlorine resulting in XCl₄. By this, we figure that element X is most likely Carbon.


These types of questions are common in the examination. It is important you go through them thoroughly for good scores.

4. Besides gallium, which other elements have since been discovered that were left by Mendeleev in his periodic table? (Any two)

Germanium (Ge) and Scandium (Sc) were two elements that fill the gaps in Mendeleev’s periodic table as they were discovered later. The periodic table suggested by Mendeleev had certain limitations like no place for isotopes, the position for hydrogen was unknown, and so on. You can gain insight about his periodic table on NCERT Solutions for Class 10th Science- Chapter 5 available on the Vedantu website and the app. Periodic table is a basic chapter for higher classes so preparing it well is extremely helpful.

5. Are NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 helpful for the board exams?

Board exams put a lot of pressure on the students. It is necessary that the students refer to books with accurate study materials and syllabus to focus their energy properly. NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter 5 provide students with reliable information curated by subject experts and elaborate explanations of all the topics for better comprehension of each chapter. These solutions can be downloaded free of cost from the website. With intensive preparation using NCERT Solutions, the students can be ready to ace their Science board exam.