Courses
Courses for Kids
Free study material
Offline Centres
More
Store Icon
Store

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 17 - Shvaas Mein Baans

ffImage
Last updated date: 28th May 2024
Total views: 474.6k
Views today: 12.74k
MVSAT offline centres Dec 2023

Class 6 Hindi Vasant NCERT Solutions for Chapter 17 Shvaas-shvaas Mein Baans

Our NCERT Solutions are prepared by subject experts that make these solutions the best resources for learning for Class 6 students. NCERT Solutions are also available for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17. Since these solutions are prepared by subject experts in Hindi, it makes NCERT Solution a highly reliable and accurate resource for exam preparations. Moreover, NCERT Solutions by Vedantu are easily accessible over the internet. NCERT Solution also is available in the form of a free PDF download for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17. Students can now easily access the best solution for the Hindi examination via a click of a button.


Class:

NCERT Solutions For Class 6

Subject:

Class 6 Hindi - Vasant

Chapter Name:

Chapter 17 - Shvaas Mein Baans

Content Type:

Text, Videos, Images and PDF Format

Academic Year:

2024-25

Medium:

English and Hindi

Available Materials:

Chapter Wise

Other Materials

  • Important Questions

  • Revision Notes

NCERT Solution Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 - Free PDF Download

प्रश्नावली 

निबंध से: 

1. बाँस को बूढ़ा कब कहा जा सकता है? बूढ़े बाँस  में कौन सी विशेषता होती है जो युवा बास में ही पाई जाती?

उत्तर: बाँस को बूढ़ा कहा जाता है जब उसकी आयु तीन वर्ष से अधिक हो जाती है। युवा बाँस के मुकाबले बूढा बाँस सख्त होता है। और आसानी से टूट जाता है उसके विपरीत युवा बाँस लचीला होता है जिसकी वजह से उसे किसी भी आकार में बदला जा सकता है। साथ ही बूढ़े बाँस को हम कोयले की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं।


2. बाँस से बनाई जाने वाली चीजों से तुम्हें सबसे आश्चर्यजनक तक चीज़ कौनसी लगी और क्यों ?

उत्तर: बाँस के प्रयोग से अनेक चीजें बनाई जा सकती है। जैसे टोकरी,टोपियां, बर्तन,  सजावटी सामान आदि। परन्तु मुझे सबसे विचित्र चीज़ बांस से बने पुल की लगती है क्योंकि पुल बनाने के लिए बहुत मजबूत ढांचा होना चाहिए जो शायद बॉस नहीं दे सकता।


3. बाँस की बुनाई मानव के इतिहास में कब शामिल हुईं?

उत्तर: मानव इतिहास मे बाँस की बुनाई तब से मानी जा सकती है जब से मानव ने बया के घोंसलें को देखकर अपना भोजन एकत्रित करने के लिए बाँस के लचीले आकार का प्रयोग करके टोकरी जैसा आकार दिया होगा।


4. बाँस के विभिन्न उपयोगों से संबंधित जानकारी देश के किस भू भाग के संदर्भ में दी गयी है? एटलस में देखो। 

उत्तर: बाँस के विभिन्न उपयोग से संबंधित जानकारी देश के उत्तर- पूर्वी भाग के संदर्भ में दी गयी है। बाँस का सबसे बड़ा उत्पादक असम में होता है।


निबंध से आगे:

1. बाँस के कई उपयोग इस पाठ में बताए गए है। लेकिन बॉस के उपयोग का दायरा बहुत बड़ा है। निचे दिए गए शब्दों की मदद से तुम इस दायरे को पहचान सकते हो

  • संगीत

  • प्रकाशन

  • मछर

  • एक नया सन्दर्भ

  • फर्नीचर

उत्तर: संगीत= बांसुरी, वायलिन 

 प्रकाशन = लोगों तक जागरूकता पहुँचाना

मच्छर= मच्छरदानी 

फ़र्निचर = कुर्सी, टेबल, फूलदान 


2. इस लेख में दैनिक उपयोग की चीजें बनाने के लिए बाँस का उल्लेख प्राकृतिक संसाधन के रूप में हुआ है। निचे दिए गए प्राकृतिक संसाधनों से दैनिक उपयोग की कौन-कौन सी चीजें बनाई जाती है

दैनिक उपयोग की वस्तुएँ    -      प्राक्रतिकसंसाधन

जूते, चपल, कपड़े आदि    -    चमड़ा

टोकरी, टोपी, छत आदि   -   घास के तिनके 

दवाइयां आदि            -   पेड़ की छाल 

उपले, लिपाई आदि       -    गोबर        

बर्तन, घर, मटके आदि    -   मिट्टी

इनमें से किन्हीं एक या दो प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल करते हुए। कोई एक चीज़ बनाने का तरीक़ा अपने शब्दों में लिखो।

उत्तर:  चमड़े को काटकर उसको सही आकार देकर उसका पर्स बनाया जा सकता है। मिट्टी का उपयोग बर्तन बनाने और मटके बनाने में किया जा सकता है। चिकनी मिट्टी को सही आकार देकर उसे कुछ समय तक सुखाने रखकर उसको रंग भरके एक अच्छा बर्तन तैयार किया जा सकता है। 


3. जिन जगहों पर साँस में बाँस बसा है, अखबार और टेलीविज़न के ज़रिए उन जगहों की कैसी तसवीर तुम्हारे मन में बनती है।

उत्तर:  ऐसी जगह हमे दूर दूर तक बाँस निर्मित चीजें ही देखने को मिलेंगे, जेसे टोपियाँ, बर्तन आदि।  बाँस के बने घर देखने को मिलते हैं।  उस इलाके में चारों तर बाँस  की बहुतायत होती है। उनका व्यापार भी उसी पर निर्भर होता है।


अनुमान और कल्पना :

8. इस पाठ में कई हिस्से है जहाँ किसी काम को करने का तरीका समझाया गया है? जैसे-छोटी मछलियों को पकड़ने के लिए इसे पानी की सतह पर रखा जाता है। या फिर धीरे धीरे पकड़ कर खींचा जाता है। बाँस की खपच्चियों को इस तरह बाँधा जाता है कि वे शंकु का आकर ले लें। इस शंकु का ऊपरी सिरा अंडाकार होता है, निचले हिस्से में खपच्चियाँ अच्छी तरह गुँधी हुई होती हैं।

1: इस वर्णन को ध्यान में रखकर निचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर अनुमान लगाकर दो

  1. बाँस से बनाए गए शंकु के आकर का जाल छोटी मछलियों को ही पकड़ने के लिए ही क्यों इस्तेमाल किया जाता है?

उत्तर: बाँस से बनाये गए शंकु आकर का जाल सिर्फ छोटी मछलियों को पकड़ने के इस लिए काम आता हर क्योंकि छोटी मछलियां निचे गुंथी खपच्चियो में आसानी से फंस जाती है जबकि बड़ी मछलियां उस जाल में से निकल जाती है।

  1. शंकु का ऊपरी हिस्सा अंडाकार होता है तो निचे का हिस्सा कैसा दिखाई देता है?

उत्तर: शंकु का ऊपरी हिसा अण्डाकार होता है तो निचला हिस्सा अर्ध गोलाकार जैसा होता है जिसमें बीचमें बाँस की खपच्चियाँ गंधी हुई होती है।

  1. इस जाल से मछली पकड़ने वालों को धीरे-धीरे क्यों चलना पड़ता है?

उत्तर: इस जाल से मछली पकड़ने वाले अगर तेज चलने लगेंगे तो जो मछलियां खपच्चियों में फंसी है वो छूट जाएंगी।


शब्दों पर गौर :

1.  निचे दिए गए शब्दों का वाक्यों में प्रयोग कीजिये

  1. हाथों की कलाकारी

  2. घनघोर बारिश

  3. बुनाई का सफर

  4. आड़ा तिरछा 

  5. डलियानुमा

  6. कहे मुताबिक

उत्तर: 

  1. हाथों की कलाकारी कुम्हार अपने हाथों की कलाकारी से मिट्टी को = मनचाहा रूप दे सकता है।

  2. घनघोर बारिश = भारत के पुंडुचेरी क्षेत्र में पुरे साल घनघोर बारिश होती है। 

  3. बुनाई का सफर बाँस की बुनाई का सफर ऐतिहासिक काल से चला आ रहा है।

  4. आड़ा तिरछा = मोहन तुम हमेशा अपनी पुस्तकें आडी तिरछी रखते हो। 

  5. डलियानुमा= तुम्हारा यह थैला तो डलियानुमा है।

  6. कहे मुताबिक अपने घर के बड़ो के कहे मुताबिक चलोगे तो सफलता मिलेगी।


व्याकरण :

1. बुनावट' शब्द बुन क्रिया में 'आवट' प्रत्यय जोड़ने से बनता है। इसी प्रकार नुकीला, दबाव, घिसाई भी मूल शब्द में प्रत्यय जोड़कर बने है| in चारों शब्दों में प्रत्यय को परहचानो और तीन तीन नये शब्द बनाये और वाक्य में प्रयोग कीजिये।

शब्द    क्रिया     प्रत्य्य    वाक्य में प्रयोग

बुनावट    बुन       आवट 

घिसाई     घिस      आई 

नुकीला     नोक     ईला

दबाव     दब       आव 

इन से बने कुछ शब्द- 

आवट- 

आई- 

ईला- 

आव- 

उत्तर: 

शब्द       क्रिया      प्रत्य्य      वाक्य में प्रयोग 

बुनावट     बुन         आवट      इस टोकरी की बुनावट बहुत सुंदर है। 

घिसाई      घिस        आई      हमारे घर के फ़र्निचर की घिसाई चल रही है।

नुकीला     नोक        ईला     यह चाकू बहुत नुकीला है। 

दबाव        दब          आव    जेसे जेसे आसमान की तरफ़ जाते है वायु का दबाव बड़ता है। 

इन से बने कुछ और शब्द – 

आवट – मिलावट , थकावट , सजावट 

आई  - लिखाई , पढ़ाई , पिसाई 

ईला – चमकीला , ज़हरीला , भड़कीला 

आव – बचाव  , चुनाव , बहाव 


2. निचे पाठ से कुछ प्रश्न दिए गए है <

(क़) वहाँ बाँस की चीज़े बनाने का_(चलन) भी खूब है। 

(ख) हम यहाँ बाँस की एक- दो चीज़ों का ही (ज़िक्र) कर पाए है।

(ग) (मसलन) आसन जैसी छोटी चीज़े बनाने के लिए बाँस को (हरेक) गठान से काटा जाता है।

(घ) खपच्चियों से (तरह-तरह) की टोपियां बनाई जाती है।

उत्तर: क, प्रसिद

ख, प्रस्ताव रखना 

ग, की वजह से , प्रत्येक 

घ , विभिन्न 


3. तर्जनी हाथ की किस ऊँगली को कहा जाता है? बाकि हाथ की उँगलियों को क्या कहते है? सभी उँगलियों के नाम अपनी भाषा में पता करें और कक्षा में अपने साथियों और शिक्षकों को बताओ?

उत्तर: हाथ की सबसे छोटी उँगली को तर्जनी उँगली कहा जाता है। बाक़ी उँगलियो के नाम इस प्रकार है – 

अंगूठा , तर्जनी, अनामिका, मध्यमा , कनिष्ठा


4. अंगुष्ठा, तर्जनी, मध्यमा, अनामिका, कनिष्ठा- ये पाँच उँगलियों के नाम है। इन्हें पहचान कर सही क्रम में लिखो।

उत्तर:  मनुष्य के एक हाथ में पाँच अंगुलिया होती हैं, इनमें से सबसे पहली औरो के सामने  मोटी अंगुली  होती है जो अंगूठा कहलाती है। अंगूठे के साथ वाली अंगुली को तर्जनी कहते हैं, हाथ के बीच वाली अंगुली का नाम मध्यमा है। मध्यमा और हाथ की सबसे छोटी वाली अंगुली कनिष्ठा के बीन की अंगुली अनामिका कहलाती है।


NCERT Solution Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 - Free PDF Download

As mentioned earlier, NCERT Solution for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 is also available in the form of a PDF. This PDF is easily accessible over the internet and free to download. Students can simply visit Vedantu’s website or the mobile app from where they can download the PDF of NCERT Solution for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17. Furthermore, this PDF is also developed and created by subject experts in Hindi. Therefore, the free PDF download for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 is a 100% accurate and credible source of information that students offer to use for their Hindi exam preparations.


NCERT Solutions For Class 6 Hindi Vasant 

Chapter 17 - Saas-Saas Mai Baans

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 Saas-Saas Mai Baans is now available over the internet for free PDF download. Chapter 17 of Vasant is important and is frequently asked in exams. This chapter revolves around the object Baans and what are the various usage of baans (bamboo) in the world. The usage and manufacturing of other objects are also defined in this chapter such as fishing but majorly, the chapter talks about baans and how it is used for different purposes such as furniture, musical instruments and more. The PDF of NCERT Solution for Chapter 17 provides a summary and short notes for this chapter. Moreover, the questions and answers for this chapter are also available through NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 Saas-Saas mai Baans.


NCERT Solutions Class 6 Hindi Vasant Chapter-wise Marks Weightage

CBSE board has marks assigned to every chapter of a subject. Likewise, for Class 6, the CBSE board has assigned a different marking scheme. Students studying in school following the CBSE board must be aware of the internal assessments and external assessment or final examination. The marks are designated according to these exams. The internal assessments are valued at 20 marks while the external assessment or final examination is of 80 marks. Therefore, Vedantu advises students is to prepare seriously for their final exams as they carry a higher weightage of marks. 


Why are NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 Important?

  • NCERT Solutions are prepared by subject experts in Hindi so these solutions are very reliable.

  • Vedantu suggests students revise from these solutions are they are simple, easy and freely accessible over the internet.

  • The questions and answers facilitate learning in Hindi and improve performance in the Hindi examination.

  • Our concepts are much loved by students owing to its simplicity.

FAQs on NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 17 - Shvaas Mein Baans

1. When is Baans Called Old and What are the Uses of Old Baans?

Baans is the Hindi term for the plant that is commonly known as bamboo in English. Chapter 17 of Vasant book covers the topic of Baans. Baans is considered old when it is more than three years old. In the case of old Baans, it is more delicate than the young plant. Moreover, it is much harder in texture as compared to young Baans. Baans which are less than three years old are much softer in texture and can be used for multiple purposes as they are highly malleable. One of the most popular uses of baans is in furniture.

2.When Did the Usage of Baans for Knitting Begin?

There are multiple uses of baans such as in furniture, musical instruments, papers and much more. One of the common uses of Baans in India is for knitting, which can also be further used in making furniture products. It is an ancient practice that dates back to the time when humans used to harvest food manually. During harvesting, humans needed something in which they could collect their harvest. The need led to the invention of the knitting of Beans. With the help of this tradition, people could create many helpful products for various purposes. Gradually this ancient practice got commercialized.

3. What is the main idea given in Chapter 17 of Class 6 Hindi Textbook Vasant?

Chapter 17 of Class 6 Hindi Vasant is based on Baans (Bamboo). The chapter helps students to learn the different uses of BaAns: In the chapter, students will also learn the manufacturing of other objects but the main concept is based on the different uses of Baans for making furniture, fishing nets, musical instruments, etc. Students can download the NCERT Solutions for Chapter 17 of Class 6 Hindi Vasant to easily prepare for their exams. These are free of cost solutions.

4. How many questions can I get from Chapter 17 of Class 6 Hindi Textbook Vasant “Saans Saans Mein Baans”?

Baans (Bamboo) is a very useful product that is popular all over the world. It is used for making a variety of products. Many people use baans for making different products and earn their living. Different products that can be made using bamboo include fishing nets, furniture, baskets, ropes, musical instruments, mosquito nets, the paper used for making notebooks, showpieces, bags, etc. Thus, Bamboo is a very useful tree and it has several uses. 

5. What is the most interesting product made from Baans (Bamboo) and why according to Chapter 17 of Class 6 Hindi Textbook Vasant?

I think the fishing net made from bamboo is the most beautiful and amazing thing. The fishing net made from bamboo is very strong and does not break easily. It helps the fishermen to catch fish easily. The way it is used for catching fish by fishermen is also amazing. It requires great skill to make a fishing net using bamboo. It is also very time-consuming but it helps many people to earn their living.

6. What have you learnt about different uses of Baans from Chapter 17 of Class 6 Hindi Textbook Vasant?

Baans (Bamboo) is a very useful product that is popular all over the world. It is used for making a variety of products. Many people use baans for making different products and earn their living. Different products that can be made using bamboo include fishing nets, furniture, baskets, ropes, musical instruments, mosquito nets, the paper used for making notebooks, showpieces, bags, etc. Thus, Bamboo is a very useful tree and it has several uses. 

7. Where can I find NCERT Solutions for Chapter 17 of Class 6 Hindi Textbook Vasant?

Students can download all NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 17 from Vedantu. They can click this link to download the NCERT Solutions for the chapter. It is easy to download as they have to visit the website and click on the download button. NCERT solutions for class 6 Hindi Vasant will be downloaded in PDF format that can help students to prepare for their exams and score high marks. The solutions are also available on the Vedantu Mobile app.