NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 Sansaar Pustak Hai

Class 6 Hindi Vasant NCERT Solutions for Chapter 12 Sansaar Pustak Hai

NCERT Solutions for Hindi Vasant Class 6 Chapter 12 Sansaar Pustak Hai gives students an exclusive view of the chapter through a variety of engaging techniques. Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 NCERT Solutions provides an exceptionally detailed analysis of the storyline in this chapter. NCERT Solutions Hindi Vasant Chapter 12 can be relied on for a concise summary of the chapter, break-down of key terminology utilized and the various scenarios that make it easy to retain complex information. Our subject experts have meticulously curated the content to ease the process of gaining not only factual information provided but also grammar skills. 

Do you need help with your Homework? Are you preparing for Exams?
Study without Internet (Offline)
NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 Sansaar Pustak Hai part-1

Access NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter-12: संसार पुस्तक है

पत्र से :

1. लेखक ने 'प्रकृति के अक्षर किन्हें कहा है?

उत्तर: लेखक ने पेड़, पौधों, पत्थरों, नदियों, वनों, जंगलों, हड्डियों आदि को प्रकृति का अक्षर कहा है।


2. लाखों-करोड़ों वर्ष पहले हमारी धरती कैसी थी? 

उत्तर: लाखों करोड़ो वर्ष पहले हमारी धरती का तापमान बहुत अधिक था, जिससे यहाँ जीवन संभव नहीं था।


3. दुनिया का पुराना हाल किन चीज़ों से जाना जाता है? कुछ चीज़ों के नाम लिखो|

उत्तर: दुनिया का पुराना हाल पर्वत, समुद्र, नदियाँ, जानवरों की हड्डियों तथा चट्टानों के माध्यम से जाना जाता है।


4. गोल, चमकीला रोड़ा अपनी क्या कहानी बताता है?

उत्तर: गोल चमकीला रोड़ा कहता है कि, मेरा जन्म एक चट्टान के टूटने से हुआ है । वर्षा के पानी में बहकर वह छोटी घाटी तक आया तथा पानी के तेज बहाव के कारण उसके कोने गोल व चमकदार हो गए।


5. गोल, चमकीले रोड़े को यदि दरिया और आगे ले जाता तो क्या होता? विस्तार से उत्तर लिखो |

उत्तर: गोल, चमकीले रोड़े को यदि दरिया और आगे ले जाता तो घिसते घिसते, वह आकार में और छोटा हों जाता तथा बालू का कण बनकर किसी समुद्र के किनारे पहुंच जाता, गोल चमकदार रोड़ा मिट्टी में मिल जाता।


6. नेहरू जी ने इस बात का हल्का सा संकेत दिया है कि दुनिया कैसे शुरू हुई होगी। उन्होंने क्या बताया है? पाठ के आधार पर लिखो

उत्तर: नेहरू जी ने बताया कि लाखों करोड़ो वर्ष पहले हमारी धरती – का तापमान बहुत अधिक था जिससे यहाँ जीवन संभव नहीं था।फिर समय के साथ तापमान कम होता गया तथा छोटे- छोटे जीवों का उद्भव हुआ, जिससे ये दुनिया शुरू हुई, उसके बाद मनुष्य का जन्म हुआ,और आज इतनी प्रगति हुई।


पत्र से आगे

1. लगभग हर जगह दुनिया कि शुरुआत को समझाती हुई कहानियाँ प्रचलित हैं, तुम्हारे यहाँ कौन सी कहानी प्रचलित है ?

उत्तर: हमारे यहाँ प्रचलित है कि, लाखों करोड़ो वर्ष पहले हमारी धरती का तापमान बहुत अधिक था, जिससे यहाँ जीवन संभव नहीं था | फिर समय के साथ तापमान कम हुआ तथा छोटे- छोटे जीवों का उद्भव हुआ, उसके बाद मनुष्य का जन्म हुआ | तथा कुछ लोगो का मानना है कि पृथ्वी का निर्माण भगवान द्वारा किया गया है। लोग ये भी कहते हैं की भगवान ने एक आदमी और एक औरत को धरती पे भेजा और उन्ही दिनों ने सारे दुनिया का निमार्ण किया।


2. तुम्हारी पसंदीदा किताब कौन-सी है और क्यों?

उत्तर: हमारी पसंदीदा किताब ‘रामायण’ है क्योंकि इससे हमें धर्म, व्यवहार आदि बातो का ज्ञान मिलता हैं, तथा जीवन के अनेक मूल्यों की जानकारी मिलती है, रामायण हमे हमारे संस्कारों से अवगत कराता है।


3. मसूरी और इलाहबाद भारत के किन प्रांतों के शहर हैं?

उत्तर: मसूरी उत्तराखंड तथा इलाहबाद उत्तर प्रदेश प्रान्त में स्थित है।


4. तुम जानते हो कि दो पत्थरों को रगड़कर आदि मानव ने आग की खोज की थी | उस युग में पत्थरों का और क्या क्या उपयोग होता था?

उत्तर: पत्थरों का प्रयोग घर बनाने, हथियार बनाने, फल तोड़ने में, जानवरों का शिकार करने में होता था।


अनुमान और कल्पना :

1. हर चीज़ के निर्माण की एक कहानी होती है, जैसे मकान के निर्माण की कहानी - कुरसी, गद्दे, रजाई के निर्माण की कहानी हो सकती है | इसी तरह वायुयान, साइकिल अथवा अन्य किसी यंत्र के निर्माण की कहानी भी होती है | कल्पना करो यदि रसगुल्ला अपने निर्माण की कहानी सुनाने लगे कि वह पहले दूध था, उसे दूध से छेना बनाया गया, उसे गोल आकार दिया गया चीनी कि चाशनी में डालकर पकाया गया | फिर उसका नाम पड़ा रसगुल्ला तुम भी किसी चीज़ के निर्माण की कहानी लिख सकते हों, इसके लिए तुम्हें अनुमान और कल्पना के साथ उस चीज़ के बारे में कुछ जानकारी भी एकत्र करनी होगी |

उत्तर: मै चाय के निमार्ण की कहानी सुनाऊंगी: चाय बनाने के लिए गैस पर पानी गर्म करके उसमे दूध मिलाया जाता है, उसके बाद चायपत्ती तथा चीनी मिलाते हैं, इसके बाद इसमें इलायची, अदरक आदि मिलाते हैं। उफान आने के साथ ही स्वादिष्ट चाय तैयार हो जाती हैं


भाषा की बात :

1. 'इस बीच वह दरिया में लुढ़कता रहा ।' नीचे लिखी क्रियाएँ पढ़ो क्या इनमें और 'लुढ़कना' में तुम्हें कोई समानता नज़र आती है? ढकेलना, गिरना, खिसकना

इन चारों क्रियाओं का अंतर समझाने के लिए इनसे वाक्य बनाओ ।

उत्तर: लुढ़कना = तूफान में चट्टान से पत्थर लुढ़क गया । 

गिरना = सीता के हाथ से किताब गिर गई।

ढकेलना = राम ने फलों की टोकरी को नीचे ढकेल दिया |

खिसकना = पलक ने प्रीती से थोड़ा सा खिसकने को कहा।


2. चमकीला रोड़ा- यहाँ  रेखांकित विशेषण, 'चमक' संज्ञा में 'ईला' प्रत्यय जोड़ने पर बना है निम्नलिखित शब्दों में यही प्रत्यय जोड़कर विशेषण बनाओ और इनके साथ उपयुक्त संज्ञाएँ लिखो -

1.पत्थर..... 

2.कांटा....

3.रस.......

4.ज़हर....

उत्तर: 

1.पथरीला मार्ग

2.काँटीला फूल

3.रसीला फल

4.जहरीला नाग


3. 'जब तुम मेरे साथ रहती हो, तो अक्सर मुझसे बहुत सी बातें - पूछा करती हों।"

यह वाक्य दो वाक्यों को मिलाकर बना है। इन दोनों वाक्यों को जोड़ने का काम जब तो (तब ) कर रहे हैं, इसलिए इन्हे योजक कहते हैं। योजक के रुप में कभी कोई बदलाव नहीं आता, इसलिए ये अव्यय का एक प्रकार होते हैं । नीचे वाक्यों को जोड़ने वाले कुछ और अव्यय दिए गए हैं। उन्हें रिक्त स्थानों में लिखो इन शब्दों से तुम भी एक एक वाक्य बनाओ -

बल्कि / इसलिए / परंतु / कि / यदि /तो / नकि / या / ताकि

(क) कृष्णन फ़िल्म देखना चाहता है... मैं मेले में जाना चाहती हूँ | 

उत्तर: कृष्णन फ़िल्म देखना चाहता है परन्तु मैं मेले में जाना चाहती हूँ |


(ख) मुनिया ने सपना देखा... वह चंद्रमा पर बैठी है।

उत्तर: मुनिया ने सपना देखा कि वह चन्द्रमा ‘पर’ बैठी है।


(ग) छुट्टियों में हम सब... . दुर्गापुर जाएँगे... जालंधर

उत्तर: छुट्टियों में हम सभी दुर्गापुर जायेंगे ‘या’ जालंधर | 


(घ) सब्ज़ी कटवा कर रखना... घर आते ही मैं खाना बना लूँ। 

उत्तर: सब्ज़ी कटवा कर रखना ‘ताकि’ घर आते ही मैं खाना बना लूँ। 


(ड) मुझे पता होगा कि शमीना बुरा मान जाएगी... मैं यह बात न कहती | 

उत्तर: यदि मुझे पता होता कि शमीना बुरा मान जाएगी ‘तो’ मैं यह बात न कहती |


(च) इस वर्ष फ़सल अच्छी नहीं हुई है...अनाज महँगा है|

उत्तर: इस वर्ष फ़सल अच्छी नहीं हुई है ‘इसलिए’ अनाज महँगा है। 


(छ) बिमल जर्मन सीखा रहा है... फ्रेंच | 

उत्तर: बिमल जर्मन सीखा रहा है ‘नाकि’ फ्रेंच


कुछ करने को :

1.पास के शहर में कोई संग्रहालय हों तो वहाँ जाकर पुरानी चीजें देखो | अपनी कक्षा में उस पर चर्चा करो।

उत्तर: हमारे घर के पास एक संग्राहलय है, जहाँ पर महाराणा प्रताप के राज के समय के सिक्के, तलवारे, बंदूके, पोशाकें रखी हैं, तथा वहाँ पर महाराणा प्रताप की जीवनी के बारे में भी बताया जाता है।


सुनना और देखना:

1. एन.सी.ई.आर.टी की श्रव्य श्रंखला 'पिता के पत्र पुत्री के नाम ।

उत्तर: एन.सी.आर.टी के द्वारा इस पुस्तक को ऑडियो रिकॉर्डिंग में किया गया है, आप सभी अवश्य ही सुने!


2. एन. सी. ई. आर. टी का श्रव्य कार्यक्रम पत्थर और पानी की कहानी ।

उत्तर: एन. सी. आर. टी के द्वारा इस कहानी का एक सुन्दर श्रव्य कार्यक्रम बनाया गया है, आप सभी उसे देख कर कहानी को और भी ज्यादा अच्छे से समझ पाएंगे।


3. 'पिता के पत्र पुत्री के नाम' पुस्तक पुस्तकालय से लेकर पढ़ो। 

उत्तर: अपने आस पास के किसी भी पुस्तकालय में जाकर “ पिता के पत्र पुत्री के नाम” पुस्तक जरूर पढ़े। 


NCERT Solutions Class 6 Hindi Chapter 12 - Free PDF Download

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Dhruva Chapter 18 Sansaar Pustak Hai can be easily acquired by downloading the PDF from the website or app. It is a beneficial and hassle-free process. The informative summary of the chapter helps to establish a good foundation of the storyline. From a moralistic point-of-view, it is guaranteed to transform a student’s learning perspective. This NCERT Solutions Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 provides solutions to complex terminology and grammar in the chapter. This has been simplified by our subject experts. Preparing for exams has never been easier. Download the PDF at Vedantu.


NCERT Solutions For Class 6 Hindi Vasant Chapters

Chapter 12 - Sansaar Pustak Hai

This chapter titled ‘Sansaar Pustak Hai’ written by Jawaharlal Nehru is a part of the CBSE Hindi Vasant textbook for Class 6. NCERT Solutions Class 6th Hindi Vasant Chapter 12 provides elaborate descriptions, important keywords and events that involve the main character of the storyline. The chapter provides valuable insight into the charms and beauty of nature. From a bird’s eye view, a student obtains amazing insight into the world around us and learns to appreciate the knowledge it provides. 

The chapter is vividly described by our subject experts. They provide the reader with a plethora of information to bring out the importance of the chapter as well as the author's insights and knowledge of the world around us through precision writing.  The well-written subject matter is simplified to establish a strong base of the topic. Our subject experts have prepared these NCERT Solutions to provide the overall groundwork for the chapter.


NCERT Solutions Class 6 Hindi Vasant Chapter Wise Marks Weightage

Class 6th Hindi Dhruva Chapter 12 has a weightage of 15 marks and is one of the key moralistic chapters from the perspective of exams. Thought-provoking, intriguing and simple questions are a constant appearance in the board exam question papers. Thus, preparing from this study material makes students score better. 

Here is more detail about the contents of Chapter 12 Sansaar Pustak Hai Class 6.

1. About the author  (1 short)

2. The author’s view about the world (1 long)

3. The new age discoveries and problems the world faces (1 short, 1 long)

4. The call to pay respect and protect our world (1 short)


Why are NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 Important?

  • NCERT Solutions for Hindi Vasant Class 6 Chapter 12 comes with an explanation of new terminology, important observations made by the author and assessing the protagonist in the story. This can be used for quick revision before exams.

  • The study material devised for Chapter 12 Sansaar Pustak Hai Class 6 can be used as a study guide by any student.

  • NCERT solutions Class 6 Chapter 12 are prepared by a team of experts who curate state-of-art study resources.

  • Our simplified answers provide an easy understanding and a stable structure to rely on for smooth exam preparation.

  • For a better grasp of the material, the student is provided with a systematic overview of all the important points.

FAQs (Frequently Asked Questions)

1. Why are Creation Stories Similar Across Different Cultures, Tribes, and Nations?

The story of our Earth’s birth is one of the most unique and debated stories on the planet. Scholars, scientists and radical thinkers can come up with a variety of theories speculating its creation and journey. A prevailing creation story spread through tradition is the earth diverged from the Sun years ago. It resembled a fireball hurtling through space and settled in this current position as it slowly cooled down. After millennia, climates developed and vegetation thrived. 

2. How Did the Pre-historic Man Use Stones During the Stone Age?

According to cave art and scientific evidence, pre-historic neanderthals discovered fire by rubbing two flint stones together and generating heat. He had no idea about cultivation and house building. Stones have been commonly used for various purposes and serving a variety of needs. They were used to hunt prey by shaping them into sharp points attached to a stick or javelin. Thus, it formed a spear. Stones have been used to construct houses and borders. These helped in demarcating land. 

3. What are some pointers for getting perfect marks in the Hindi class test for Chapter 12?

You must verify that you follow the curriculum because it is lengthy and you do not want to add to your issues. The CBSE curriculum also provides you with an idea of how your year's or session's paper pattern will look. As a result, you must read it all the way through. Although physical textbooks cannot constantly be updated, the CBSE curriculum changes in accordance with the NCERT pattern or textbooks. As a response, get the most recent NCERT textbook, which is easily available on Vedantu.

4. Is the Hindi exam Class 6 Chapter 12 writing portion difficult?

Proper formatting is essential for the writing section, and there are marks granted just for writing your replies correctly. You will immediately lose marks if your replies are not in the right format, so make sure you know all of the forms for all of the possible compositions that may occur in the writing section. Some literary questions will also need you to adhere to a particular structure.

5. How can you prevent making grammatical mistakes in the Hindi Class 6 Chapter12?

To prevent losing marks in your class tests due to grammatical faults, double-check that your response sheet is free of them. You should practise frequently and get your writing evaluated for Chapter 12 Hindi. Your teacher will be able to give you a more in-depth look at how you may improve in a variety of areas apart from this chapter. It is feasible to write essays and have them checked. You should also look back over your previous work to see where you may improve your grammar.

6. How can NCERT Solutions help you prepare better apart from Chapter 12?

You must assure that time is effectively split and assigned to the various sections. Keep track of the time as you consider your replies to ensure you don't spend more time on any one question than is necessary. If a question appears to be taking too long, go on and come back to it later. Alternatively, just finish what you're already familiar with from Vedantu’s solutions.

7. Where can I get a copy of the most recent Hindi NCERT Solutions for Chapter 12?

The newest CBSE Hindi NCERT Solutions for Chapter 12 may be downloaded from the Vedantu. To guarantee that your book is compatible with the most recent CBSE curriculum, make sure you download it from the right URL. The website's book includes all of the most recent CBSE rules, as well as numerous additional chapter-by-chapter questions. For maximum marks in any school exam, it's extremely essential that you study through the NCERT Solutions too.

Share this with your friends
SHARE
TWEET
SHARE
SUBSCRIBE