Courses
Courses for Kids
Free study material
Offline Centres
More
Store Icon
Store

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 14 - Lokageet

ffImage
Last updated date: 24th Apr 2024
Total views: 464.4k
Views today: 12.64k
MVSAT offline centres Dec 2023

Class 6 Hindi Vasant NCERT Solutions for Chapter 14 Lokageet

NCERT Solutions Hindi Vasant Class 6 Chapter 14 Lokgeet is the best option for students to choose to excel in academics. NCERT Solutions by Vedantu deal with a wide variety of topics to make the best source for studies to reach students. The language Hindi has been dealt with effortlessly by the experts through NCERT Solutions by Vedantu. Students are introduced to various aspects of the chapter through many exercises and activities. Students no longer need to worry about finding the correct materials when NCERT Solutions Chapter 14 Hindi Vasant is here. 


Class:

NCERT Solutions For Class 6

Subject:

Class 6 Hindi - Vasant

Chapter Name:

Chapter 14 - Lokageet

Content Type:

Text, Videos, Images and PDF Format

Academic Year:

2024-25

Medium:

English and Hindi

Available Materials:

Chapter Wise

Other Materials

  • Important Questions

  • Revision Notes

Access NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 18 - लोकगीत

प्रश्नावली

निबंध से:

1. निबंध में लोकगीतों के किन पक्षों की चर्चा की गई है? बिंदुओं के रूप में उन्हें लिखो।

उत्तर: ‘लोकगीत’ निबंध में लोकगीत के निम्नलिखित आयामों की बात की गई है।

  1. लोकगीतों में महिलाओं की भूमिका।
  2. लोकगीतों के प्रकार।
  3. लोकगीतों की लोकप्रियता और प्रासंगिकता।
  4. लोकगीतों और शास्त्रीय संगीत में भिन्नता।
  5. लोकगीतों की अहमियत।
  6. लोकगीतों में समाज की रूपरेखा का चित्र।


2. हमारे यहाँ स्त्रियों के खास गीत कौन-कौन से हैं?

उत्तर: स्त्रियों के सबसे खास लोकगीत निम्नलिखित हैं।

  1. विवाह के समय, भिन्न-भिन्न रस्मों में गाये जाने वाले गीत।
  2. बच्चे के जन्म पर गाये जाने वाले गीत।
  3. स्नान लेने के रास्ते में गाये जाने वाले गीत।
  4. नदियों और खेतों पर गाये जाने वाले गीत।
  5. घरेलू काम करते समय गाये जाने वाले गीत।
  6. नामकरण और अन्य संस्कारों के समय गाये जाने वाले गीत।
  7. बिहार का सोहर गीत इत्यादि।


3. निबंध के आधार पर और अपने अनुभव के आधार पर (यदि तुम्हें लोकगीत सुनने के मौके मिले हैं तो) तुम लोकगीतों की कौन सी विशेषताएँ बता सकते हो?

उत्तर: लोकगीतों की विशेषताएँ निम्नलिखित हैं।

  1. लोकगीत आम जनता के लोकप्रिय गीत होते हैं। 
  2. इस गीत की भाषा आम बोलचाल की भाषा होती है, परिणामस्वरूप यह गीत घर घर की लाज लिए हुए है।
  3. इन गीतों में विविध वाद्य यंत्रों का प्रयोग होता है, जैसे बासुरी, करतल, मंजीरा और ढोल आदि।
  4. लोकगीतों में ताज़गी होती है, ये गीत गाँव के लोगों द्वारा ही लिखे जाते हैं। ये गीत ग्रामीण जीवन की ही अभिव्यक्ति करते हैं।
  5. ये गीत महिलाओं द्वारा घरेलू कार्य करते और विवाह आदि रीति रिवाजों में गाये जाते हैं।
  6. हर भाषा, हर समूह और हर गाँव का अपना लोकगीत होता है, जो गायक और श्रोतागण के अंतर्मन उद्वेलित करता है।


4. ‘पर सारे देश के…….अपने – अपने विद्यापति हैं’ इस वाक्य का क्या अर्थ है? पाठ पढ़कर मालूम करो और लिखो।

उत्तर: मिथिला क्षेत्र में विद्यापति के गीत लोकप्रिय हैं, ठीक उसी प्रकार हर भाषा, हर समूह और हर गांव का अपना लोकगीत होता है। जो उसी समूह के लोगों द्वारा और उन्हीं की जीवन शैली पर गाये जाते हैं। इसीलिए सारे देश के अपने-अपने विद्यापति है।


अनुमान और कल्पना:

1. क्या लोकगीत और नृत्य सिर्फ़ गाँवों या कबीलों में ही गाए जाते हैं? शहरों के कौन से लोकगीत हो सकते हैं? इस पर विचार करके लिखो।

उत्तर: लोकगीत और नृत्य केवल गाँवों या कबीलों में ही नहीं गाए जाते हैं। शहरों में भी लोकगीत गाए जाते हैं, क्योंकि गाँवों से ही लोग शहरों में बसने आते हैं। वो अपनी संस्कृति और लोकगीतों को अपने साथ लेकर चलते हैं। शहरों में विवाह, नामकरण आदि रस्मों के समय लोकगीत गाये जाते हैं।


2. ‘जीवन जहाँ इठला-इठलाकर लहराता है, वहाँ भला आनंद के स्रोतों की कमी हो सकती है? उद्दाम जीवन के ही वहाँ के अनंत संख्यक गाने प्रतीक हैं। क्या तुम इस बात से सहमत हो? ‘बिदेसिया’ नामक लोकगीत से कोई कैसे आनंद प्राप्त कर सकता है और वे कौन लोग हो सकते हैं जो इसे गाते-सुनते हैं? इसके बारे में जानकारी प्राप्त करके कक्षा में सबको बताओ।

उत्तर: हाँ, लोकगीतों से आनंद प्राप्त किया जा सकता है। लोकगीत लोक से निकले और लोक का चरित्र पेश करने वाले गीत होते हैं। जो मनुष्य को उसकी संस्कृति और समाज की केवल जानकारी ही नहीं, बल्कि उन्हें उससे जोड़ते भी है। किसी भी ग्रामीण क्षेत्र में लोकगीतों का महत्व सर्वोपरि होता है, क्योंकि वो उनका ही जीवन होता है। लोकगीतों से सभी लोग आत्मीयता से जुड़े होते हैं। लेकिन हाँ, ग्रामीण जीवन के मूल में ही लोकगीत हैं। वे अपने हर कार्य के दौरान लोकगीत गाते हैं।


भाषा की बात

1. ‘लोक’ शब्द में कुछ जोड़कर जितने शब्द तुम्हें सूझें, उनकी सूची बनाओ। इन शब्दों को ध्यान से देखो और समझो कि इनमें अर्थ की दृष्टि से क्या समानता है। इन शब्दों से वाक्य भी बनाओ, जैसे- लोककला। 

उत्तर:  लोकहित(अर्थ जन कल्याण) – सरकार द्वारा बनाई गई योजनाएँ लोकहित के लिए होती हैं।

लोकप्रिय(अर्थ प्रसिद्ध) – खुसरों के लोकगीत आज भी लोकप्रिय है।


2. बारहमासा गीत में साल के बारह महीनों के वर्णन होता है। अगले पृष्ठ पर विभिन्न अंकों से जुड़े कुछ शब्द दिए गए हैं। इन्हें पढ़ो और अनुमान लगाओ कि इनका क्या अर्थ है और वह अर्थ क्यों है? इस सूची में तुम अपने मन से सोचकर भी कुछ शब्द जोड़ सकते हो:

1. इकतारा

2. सरपंच

3. चारपाई

4. छमाई

5. सप्तर्षि

6. नवरात्र

7. अठन्नी 

8. चौराहा

9. तिराहा

10.दोपहर

उत्तर: उपर्युक्त लिखित शब्दों के अर्थ निम्नलिखित हैं:

  1. इकतारा: राजस्थानी लोकगीत में इस्तेमाल होने वाला संगीत वादक यंत्र है। क्योंकि यह यंत्र अत्यंत लोकप्रिय है।

  2. सरपंच: गांव के पाँच अनुभवी, बुद्धिमान बुजुर्गों का समूह।

  3. चारपाई: चार पैरों वाला बिस्तर।

  4. सप्तऋषि: सात ऋषियों का समूह।

  5. अठन्नी: आठ आने का सिक्का।

  6. तिराहा: तीन रास्तों वाली जगह।

  7. दोपहर: दिन के 12 से 4 बजे तक का समय।

  8. छमाही: छह महीनों का समूह।

  9. नवरात्र: नौ रातों का समूह।

  10. चौराहा: चार रास्तों वाली जगह। 


3.  को, में, से आदि वाक्य में संज्ञा का दूसरे शब्दों के साथ संबंध दर्शाते हैं। ‘झाँसी की रानी’ पाठ में तुमने का के बारे में जाना। नीचे ‘मंजरी जोशी’ की ‘भारतीय संगीत की परंपरा’ से भारत के एक लोकवाद्य का वर्णन दिया गया है। इसे पढ़ो और रिक्त स्थानों में उचित शब्द लिखो तुरही भारत के कई प्रान्तों में प्रचलित है। यह दिखने……अंग्रेजी के एस या सी अक्षर…… तरह होती है। भारत.. 

…….विभिन्न प्रान्तों में पीतल या काँसे….. बना यह वाद्य अलग-अलग नामों ….. जाना जाता है। धातु की नली…..घुमाकर एस…… आकार इस तरह दिया जाता है कि उसका एक सिरा संकरा रहे और दूसरा सिरा घंटीनुमा चौड़ा रहे। फूंक मारने…. एक छोटी नली अलग……जोड़ी जाती है। राजस्थान…….. इसे बर्गे कहते हैं। उत्तर प्रदेश…..यह तूरी, मध्य प्रदेश और गुजरात…..रणसिंघा और हिमाचल प्रदेश…… नरसिंघा….. नाम से जानी जाती है। राजस्थान और गुजरात में इसे काकड़सिंघी भी कहते हैं।

उत्तर: यह दिखने में अंग्रेजी एस या सी अक्षर की तरह होती है। भारत के विभिन्न प्रान्तों में पीतल या काँसे का बना यह वाद्य अलग-अलग नामों से जाना जाता है। धातु की नली को घुमाकर एस का आकार इस तरह दिया जाता है, कि उसका एक सिर संकरा रहे और दूसरा सिरा घंटी नुमा चौड़ा रहे। फूंक मारने को एक छोटी नली अलग से जोड़ी जाती है। राजस्थान में इसे बर्गे कहते हैं। उत्तर प्रदेश में यह तूरी, मध्य प्रदेश और गुजरात में रणसिंघा और हिमाचल प्रदेश में नरसिंघा के नाम से जानी जाती है। राजस्थान और गुजरात में इसे काकड़सिंघी भी कहते हैं।


भारत के मानचित्र में

1. भारत के नक्शे में पाठ में चर्चित राज्यों के लोकगीत और नृत्य दिखाओ।

उत्तर: भारत के विविध राज्यों में विविध लोकगीत और नृत्य का प्रस्तुतिकरण होता है। जैसे पंजाब में हीर-रांझा, सोनी महीवाल, राजस्थानी में ढोला मारू,   पीलू, सारंग,  दुर्गा, सावन,  आदि कहरवा, बिहार और धोबिया आदि प्रान्तों में गाए जाते हैं।


कुछ करने को:

1. अपने इलाके के कुछ लोकगीत इकट्ठा करो। गाए जाने वाले मौकों के अनुसार उनका वर्गीकरण करो।

उत्तर: मेरे इलाके के कुछ लोकगीत निम्नलिखित हैं।

विवाह के लोकगीत; ……अरे अरे सगुनी सगुन ले आओ

सोहर गीत- कोइ माँगी कढैया न देय हमारा दिल हलवे पै


2. जैसे-जैसे शहर फैल रहे हैं और गाँव सिकुड़ रहे हैं, लोकगीतों पर उनका क्या असर पड़ रहा है? अपने आसपास के लोगों से बातचीत करके और अपने अनुभवों के आधार पर एक अनुच्छेद लिखो।

उत्तर: जैसे-जैसे शहर फैल रहे हैं, और गाँव सिकुड़ रहे हैं, लोकगीत पर उनका असर अवश्य है। किंतु अब असर इतना गहरा नहीं है, क्योंकि आज की संस्कृति भाग दौड़ वाली हो गई है, जहां आज केवल विवाह के समय ही लोकगीतों का स्मरण होता है। और वो भी गाँव से रिश्तेदारों द्वारा गाये जाते हैं।


3. रेडियो और टेलीविजन के स्थानीय प्रसारणों में एक नियत समय पर लोकगीत प्रसारित होते हैं। इन्हें सुनो और सीखों।

उत्तर: रेडियों और टेलीविजन के स्थानीय प्रसारण नियम चैनल पर होता है। जैसे टेलीविजन में विविध चैनल हैं, इसके लिए उदहारण डीडी मराठी आदि। उसी प्रकार रेडियों में 105.5 पर प्रसारित होते हैं।


NCERT Solutions Class 6 Hindi Vasant Chapter 14 - Free PDF Download

The free PDF of NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 14 Lokgeet is now available as a PDF file. Students can find the link below and download it by a click. Overpriced books and other references are no longer a need when these free, top quality materials are available. Students can study by using NCERT Solutions for a hassle-free study experience. A variety of questions have been dealt with in these study materials. All the NCERT Class 6 Hindi Vasant Chapter 14 questions have been solved without any errors. Students are brought closer to the subject through various forms and methods carefully chosen by NCERT Solutions. 

 

NCERT Solutions Class 6 Hindi Vasant 

Chapter 14 - Lokgeet

Hindi Vasant Chapter 14 Lokgeet is one of the most interesting and important portions provided in NCERT. Chapter 14 of Class 6 deals with some of the folklore seen in various states and cultures. Folklore portrays the cultures of a group of people or a region through songs, stories, etc. NCERT Solutions for Class 6 teaches the importance of folklore for the expression of cultures to students. Our solutions also encourage students to find out about the traditional folklore present in their regions. Students are attracted to the topic by different kinds of questions and activities listed in the study material.

 

NCERT Solutions Hindi Vasant Class 6 Chapter-wise Marks Weightage

Chapter 14 of Class 6 introduces students to a world of folklore which is quite a new area for them. So it stands as an important chapter for students in their examinations. Students must not miss this chapter at any cost. NCERT Solutions for Class 6 ensures that students understand all the concepts from these notes clearly so that they don't need to leave this topic during preparations. Questions that can be answered by thinking or imagining are also seen during examination and students can practice them from NCERT Solutions. 

 

Why are NCERT Solutions for Chapter 14 Class 6 Hindi Vasant Important?

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 14 has many noteworthy aspects of teaching which are worth reading. There are many kinds of exercises included in these notes. Students are sure to understand all the concepts clearly from these well-executed study materials:

  • NCERT Solutions for Class 6 Chapter 14 provides solutions to all the questions listed in the NCERT textbook.

  • Additional questions are also framed and provided for students to practice them and be ready for all kinds of questions during examinations. 

  • All the solutions undergo various kinds of checks at different levels to ensure error-free and quality content for students.

  • Students can now save the time used for preparing notes by using these highly reliable notes.

  • These study materials can be used for revisions and last-minute preparations before any examination.

FAQs on NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 14 - Lokageet

1. Do You Think Folklore is Only Seen in Villages? If not, Which are the Other Folklore Seen in Urban Areas?

Folklore portrays the culture of a region or state through various stories, songs, dances, etc. They originated in rural areas and among tribal people in the past. It can be seen that a majority of folklores are seen in villages but some are seen in cities too. However, the ones seen in cities are one or the other way connected to that of villages. Some of the examples of folklore include Baul, Lalon fakir, etc. All these help in showing cultural identity.

2. Nowadays, Villages are Stepped All Over by Cities. Do you Think this Affects Folklore? 

We can see that now cities are growing fast and the majority of people prefer city life. Villages and rural areas are underdeveloped and the folklore present there is being forgotten slowly. The true essence of each culture lies in these folklores and we need to preserve them. Various campaigns and programs which encourage folklore must be put forth as soon as possible. By this, the newer generations can see how their culture and lives evolved from their ancestors and can understand their importance.

3. What does the writer tell about the tribals?

We have known and heard throughout history and education that the tribals are known for their unique beliefs and customs, one of them being their folk songs. 


Their folk songs are known to be lively and impactful that has a lasting impression on the onlooker. In India, these tribals are most commonly found in the state of Madhya Pradesh, Nagpur, Assam etc. They are also known for their free-spiritedness and their reluctance to be bound under rules and customs, which also finds its place in their folk songs.

4. Where are the folk songs most commonly found?

The writer tells us that the ever-rising in-demand folk songs have their origin most prominently in the rural areas in India. These villages have their own distinct cultures and festivities, where these folk songs are performed. In the villages of Mirzapur, Banaras, Punjab, Bengal etc, folk songs have been performed and practised for centuries. Although earlier the classical songs had an upper hand over these, with age and time, the folk songs have come into the public view and have managed to establish and leave their presence. 

5. What role do the women play in these folk songs?

Women have a very special and important role to play when we talk about folk songs. This is because in most cases they are the producers and the directors giving shape to the folk songs to different regions. In this sense, they are quite ahead of the women of other countries, as these women do not seem to have the songs associated with them to be particular of their own and separated from the menfolk. In India, however, the folk songs have their origin from the women and are attributed particularly to them. They sing about the plight, happiness and togetherness that these women experience among themselves. 

6. How to prepare for Class 6 Hindi Chapter 14?

The first step that any student needs to follow is to read the chapter thoroughly line by line. While reading it is also important that they mark all the important and new words and find their meanings. Also, it is advisable that they jot down their own interpretations and opinions of the chapter. Finally, they need to turn towards the NCERT Solutions for a better and thorough understanding of the chapter. Following these simple steps will help them answer any question that might be asked from this particular chapter. 

7. Where to access the NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 14?

The student can, with much ease, download the NCERT Solutions from the Vedantu and from the Vedantu app at free of cost. These solutions are designed and prepared by experts keeping in mind the needs and demands of the students. The exercises have detailed answers that make the learning process much more fruitful. Apart from this the language used is simple and easy to comprehend so that the student does not stumble at any step of the learning process.